विज्ञापन
Home » Economy » Infrastructurecrown prince mohammad bin salman to take flight from riyadh to delhi

आज पहली बार भारत आएंगे सऊदी क्राउन प्रिंस सलमान, निवेश से पाकिस्तान के उड़ जाएंगे होश

भारत की आपत्ति पर इस्लामाबाद से नहीं रियाद से लेंगे दिल्ली की फ्लाइट

1 of

नई दिल्ली। पाकिस्तान के बाद अब सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिम सलमान आज भारत आएंगे। मोहम्मद बिन सलमान सोमवार को पाकिस्तान में थे जहां उन्होंने आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान के साथ 20 अरब डॉलर के 8 समझौतों पर हस्ताक्षर किए। अब मोहम्मद बिम सलमान आज भारत आ रहे हैं ऐसे में उम्मीद की जा रही है भारत सरकार उनके सामने पाकिस्तान की ओर से किए गए पुलवामा आतंकवादी हमले का मुद्दा उठएगी। भारत में 14 फरवरी को हुए आतंकवादी हमले के बाद भारत ने उनके इस्लामाबाद से सीधे दिल्ली आने पर आपत्ति दर्ज की। भारत-सऊदी अरब रिश्तों की जानकारी रखने वाले एक अधिकारी कहना है कि दोनों देशों के बीच रिश्तें काफी मजबूत हैं। सऊदी प्रिंस की इस यात्रा के दौरान हो वाले निवेश से पाकिस्तान खुद को असुरक्षित महसूस करेगा। 

 

रियाद से लेंगे दिल्ली की फ्लाइट


भरत की इस आपत्ति के चलते  मोहम्मद बिम सलमान इस्लामाबाद से रियाद चले गए हैं। अब वह रियाद से दिल्ली की फ्लाइट लेंगे। यह मोहम्मद बिन सलमान का पहला भारत दौरा है। बता दें कि भारत और सऊदी अरब अपने रक्षा संबंधों को और मजबूत करने की दिशा में जरूरी कदम उठा सकते हैं। मोहम्मद बिम सलमान  को दिन के दौरे में दोनों देश संयुक्त नेवल एक्सरसाइज भी करने वाले हैं। 


भारत और सऊदी अरब 5 एमओयू पर हस्ताक्षर कर सकते हैं


सऊदी प्रिंस पहली बार भारत का दौरा करेंगे। इस दौरे के दौरान भारत और सऊदी अरब 5 एमओयू पर हस्ताक्षर कर सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, रत्नागिरी रिफाइनरी परियोजना में सऊदी अरामको और अबू धाबी नेशनल ऑयल कंपनी (ADNOC) के जरिए 44 बिलियन डॉलर के निवेश पर बातचीत भी सलमान की भारत यात्रा के दौरान होगी।

सऊदी प्रिंस ने पाकिस्तान के साथ किया तेल रिफाइनरी का समझौता


समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने 'अल अरबिया टीवी' के हवाले से बताया कि इनमें पाकिस्तानी बंदरगाह ग्वादर में सऊदी अरब की तेल कंपनी अरामको की रिफाइनरी का समझौता भी शामिल है जो दुनिया की सबसे बड़ी रिफाइनरियों में से एक है। 'अल अरबिया' ने सऊदी क्राउन प्रिंस के हवाले से कहा, "पाकिस्तान सऊदी लोगों का एक प्रिय देश है और हम भागीदार होंगे क्योंकि हम हमेशा से रहे हैं।"

 

 
निवेश में भारत-पाक की तुलना नहीं

 

सऊदी प्रिंस की ओर से पाकिस्तान को दी गई मदद पर उच्च पदस्थ अधिकारियों ने कहा कि निवेश को लेकर भारत और पाकिस्तान की कोई तुलना नहीं हो सकती। सऊदी अरब का पाकिस्तान में निवेश का मतलब है उसे राहत पहुंचाना। मगर, भारत में उनका निवेश एक मजबूत अर्थव्यवस्था में भागीदार बनना है। चीन,अमेरिका और जापान के बाद सऊदी अरब भारत का चौथा सबसे बड़ा व्यापारिक सहयोगी है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन