Home » Economy » InfrastructureAlways follow these 5 rules to be successful in any business

बि‍जनेस में हमेशा करें ये 5 काम, बढ़ता जाएगा कारोबार

आप भी अपने छोटे से आइडि‍या या छोटे से काम को एक बड़े कारोबार की शक्‍ल दे सकते हैं।

1 of

नई दि‍ल्‍ली. आप भी अपने छोटे से आइडि‍या या छोटे से काम को एक बड़े कारोबार की शक्‍ल दे सकते हैं। हम कई बार एक अच्‍छे बि‍जनेस प्‍लान को चौपट कर देते हैं और बाद में जब कोई और वैसे ही कि‍सी प्लान पर कोई बड़ा काम करता है तो फि‍र अपने को कोसते हैं। बि‍जनेस को बड़ा करना है या अपने आइडि‍या को डेवलप करना हो इसके लि‍ए बस कुछ बातों का हमें ध्‍यान रखना होता है। जि‍न लोगों ने अपने छोटे से बि‍जनेस से बड़ा कारोबार बनाया हम उनकी जुबानी आपको बता रहे हैं कि‍ आपको कि‍न बातों को अमल में लाना है। इनके एक्‍सपीरियंस की बदौलत आपको आगे बढ़ने की राह मि‍लेगी और ये भी पता चलेगा कि‍ आपको क्‍या गलति‍यां नहीं करनी हैं।  आगे पढ़ें 


 

1 अपना मकसद शेयर करें
करोड़ों में कारोबार कर रही जेट सेट गो की फाउंडर कनि‍का टेकरीवाल के मुताबि‍क, सबसे पहले अपने मकसद को पहचानें और दूसरों से शेयर करें, चाहे वो नए लोग हों या आपकी टीम से जुड़े हों। वहीं ग्रोथ इनेबलर के चीफ रेवेन्‍यू  अफसर आफताब मलहोत्रा के मुताबि‍क, मकसद की पैशन बनता है। आपका मि‍शन आपमें और आपके साथ जुड़े लोगों में एनर्जी पैदा करता है।

 

2 लोगों की पहचान करें
रेस्‍टोरेंट Chowman की चेन चलाने वाले देबादि‍त्‍य चौधरी कहते हैं कि‍ कि‍सी भी बि‍जनेस के लि‍ए लोगों का मैनेजमेंट बहुत जरूरी होता है। अपने साथ जुड़े लोगों को पहचानना जरूरी है तभी आप उन्‍हें अपने मकसद के हि‍साब से काम में लगा पाएंगे ओर वो अपना पूरा आउटपुट दे पाएंगे। आपके कर्मचारी ही आपकी संपत्‍ति‍ है। वहीं कनि‍का कहती हैं कि‍ अपनी टीम से ज्यादा कुछ छुपाना नहीं चाहि‍ए। आपकी टीम को पता होना चाहि‍ए कि‍ आप क्‍या सोच रहे हैं और आप उनसे क्‍या उम्‍मीद करते हैं। 

 

3 जो बेस्‍ट हो उसे साथ रखें
आफताब के मुताबि‍क, बि‍जनेस का मतलब होता है लोग, मकसद और कल्‍चर। लोगों को उनकी काबलि‍यत पर हायर करें और उन्‍हें अपने मकसद के लि‍ए ट्रेनिंग दें। लोगों को अपने साथ जोड़ते वक्त कंप्रोमाइज न करें  जो बेस्‍ट हो उसे हायर करें। ऐसे लोगों को अपने साथ जोड़ें जो आपके कल्‍चर के साथ जि‍एं, स्‍कि‍ल तो डेवलप हो ही जाएंगी। अगर आप बि‍जनेस की शुरुआत कर रहे हैं तो अपने साथ जुड़े लोगों को वाजि‍ब वेतन के अलावा और सुवि‍धाएं दें जैसे परफॉर्मेंस बोनस वगैरा ताकि‍ वो हमेशा मोटीवेटेड रहें और अपना बेस्ट देने की कोशि‍श करें। कनि‍का भी यही मानना है कि‍ आपके कारोबार को तरक्‍की दि‍लाने में आपके साथ जुड़े  लोगों का रोल बहुत अहम होता है। 

 

4 हर चीज पर खुद नजर रखें
परफेक्‍शनि‍स्‍ट बनें, देबादि‍त्‍य इस बात को बहुत जोर देते हुए कहते हैं। आप नया काम शुरू करने जा रहे हैं तो आपके पास गलती की गुंजाइश नहीं है। अपने कारोबार से जुड़े हर पहलू को खुद देखें। अगर आप खुद चीजों को देखेंगे तो अपने कस्‍टमर को सेटि‍सफाइ कर पाएंगे। इससे आप आगे चलकर आने वाली कि‍सी दि‍क्‍कत का अंदाजा भी पहले ही लगा पाएंगे।

 

5 तानाशाही नहीं चलेगी
ऑटोक्रेसी नहीं चलेगी, आपको दूसरों के साथ मि‍लकर काम करना चाहि‍ए। कनि‍का कहती हैं कि‍ तानाशाही का सीधा सा मतलब होता है कि‍ मैं परवाह नहीं करता। जब कोई कारोबार शुरू होता है तो काफी सारी चीजें फैली हुई होती हैं हर कोई हर तरह का काम कर रहा होता है। आपको धीरे धीरे से इस फैले हुए काम को ऑर्गनाइज करना है। इसमें तानाशाही से काम नहीं चलता। 

 

6 अपनी वैल्‍यूज तय करें
 अपनी वैल्‍यूज, प्रिंसिंपल्‍स को तय करें और उन पर चलें। अपनी टीम को भी उसमें शामि‍ल करें। आफताब कहते हैं कि जो आप कहते हैं वो आप भी करें और आप करते हैं वही दूसरों को भी कहें। आपका कारोबार तभी तरक्‍की करेगा जब आप आपकी टीम आपके वर्क कल्‍चर को अपनाएगी। आप जैसा अपनी टीम से चाहते हैं वैसा आपको खुद भी करना होगा।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss