Home » Economy » InfrastructureAirAsia case: Venkatramanan says wrongly accused by CBI

टाटा से बदला ले रहे हैं सायरस मि‍स्‍त्री, वेंकटरमनन ने लगाया आरोप

टाटा संस के पूर्व चेयरमैन सायरस मि‍स्‍त्री और टाटा ट्रस्‍ट में एक बार फि‍र ठनती नजर आ रही है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। टाटा संस के पूर्व चेयरमैन सायरस मि‍स्‍त्री और टाटा ट्रस्‍ट में एक बार फि‍र ठनती नजर आ रही है। टाटा ट्रस्‍ट के आर वेंकटरमनन का कहना है कि‍ एयर एशि‍या मामले में उन्‍हें फंसाया गया है। नॉन एग्‍जेक्‍यूटि‍व डायरेक्‍टर होने की वजह से एयरलाइन के मामलों में उनकी भूमि‍का ना के बराबर थी। उन्‍होंने आरोप लगाया कि‍ टाटा संस के पूर्व चेयरमैन सायरस मि‍स्‍त्री ने 'बदले की कार्रवाई' करते हुए उनका नाम इस मामले में घसीटा है। 


एयर एशि‍या में टाटा की बड़ी हि‍स्‍सेदारी है और एयर एशि‍या बरहाड के साथ ज्‍वाइंट वेंचर में वेंकटरमनन के पास करीब 1.5 फीसदी की हिस्‍सेदारी है। उन्‍होंने कहा कि‍ सीबीआई ने मुझे इस मामले में गलत तरीके से आरोपी बनाया है। 

 

नि‍यम से छूट लेने के लि‍ए कानून तोड़े 
CBI एयर एशिया ग्रुप के CEO एंथनी फ्रांसिस टोनी फर्नांडीज, वेंकटरमनन सहित 5 से ज्‍यादा लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर चुकी है। आरोप है कि इन लोगों ने इंटरनेशनल फ्लाइंग लाइसेंस लेने के लिए कानूनों का उल्‍लंघन किया है। अधिकारियों के मुताबिक, एयर एशिया के डायरेक्‍टर्स ने एविएशन सेक्‍टर के 5/20 नियमों से छूट के लिए कानून तोड़े हैं। इसके अलावा फर्नांडीज व अन्‍य पर फॉरेन इनवेस्‍टमेंट प्रमोशन बोर्ड (FIPB) नियमों का भी उल्‍लंघन करने का आरोप है।


सरकारी कर्मचारि‍यों का नाम भी शामि‍ल 
CBI की ओर से दर्ज FIR में ट्रैवल फूड ओनर सुनील कपूर, एविएशन कंसल्‍टेंट दीपक तलवार, सिंगापुर स्थित SNR ट्रेडिंग के डायरेक्‍टर राजेन्‍द्र दुबे और कुछ अनजान सरकारी कर्मचारियों के नाम भी शामिल हैं। CBI ने टोनी फर्नांडीज और वेंकटरमनन पर लाइसेंस के लिए क्‍लीयरेंस पाने को लेकर सरकारी कर्मचारियों को अपने पक्ष में करने, एविएशन के मौजूदा 5/20 नियम से छूट पाने और रेगुलेटरी पॉलिसीज में बदलाव करने का आरोप लगाया है।

 

बेतुके हैं आरोप 
इस बीच एयर एशि‍या ने कहा है कि‍ सीबीआई के आरोप बेतुके हैं। कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि‍ सीबीआई का यह आरोप बेमानी है कि एयर एशि‍या लि‍मि‍टेड का कंट्रोल फॉरेन एक्‍सचेंज इनवेस्‍टमेंट एक्‍ट ( FEMA ) के कायदों के हि‍साब से नहीं चल रहा था। एयरलाइन के मुताबि‍क, दि‍ल्‍ली हाईकोर्ट के आदेश के तहत डीजीसीए ने फरवरी 2017 में इस सि‍लसि‍ले में एक वि‍स्‍तृत आदेश जारी कि‍या था। इस आदेश में कहा गया था कि ब्रांड लाइसेंस एग्रीमेंट की शर्तों का मतबल केवल इतना था कि ब्रांड और उसकी सेवाओं में एकरूपता बनी रहे। यह शर्तें यात्रि‍यों के फायदे के लि‍ए हैं। आगेे पढ़ें  

मि‍स्‍त्री को दि‍खाया गया था बाहर का रास्‍ता 
वेंकटरमनन सर दोराबजी टाटा ट्रस्‍ट के मैनेजिंग ट्रस्‍टी भी हैं। उन्‍होंने कहा कि ट्रस्‍ट को बदनाम करने की सायरस मि‍स्‍त्री और उनकी कंपनी के प्रयासों के बावजूद हम अपने लोगों के जीवन की गुणवत्‍ता बढ़ाने में लगे रहे। गौरतलब है कि सायरस मि‍स्‍त्री को टाटा ग्रुप से 2016 में बाहर कर दि‍या गया था। इस दौरान मि‍स्‍त्री ने ग्रुप पर कई तरह के आरोप लगाए थे। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट