Home » Economy » InfrastructureNomura report on CNG and LNG

सीएनजी और एलएनजी सेक्टर में आने वाली हैं 4 लाख नई नौकरियां

मंथली इनकम में 5 से 8 हजार रुपए की हो सकेगी बढ़ोतरी

1 of
नई दिल्ली. सरकार का नैचुरल गैस चालित वाहनों की संख्या में इजाफे का प्लान है। इसके लिए केंद्र सरकार अगले 10 वर्षों में करीब 10 हजार सीएनजी स्टेशन बनाने जा रही है। अगर सरकार का यह प्लान सफल रहा, तो वर्ष 2030 तक कुल वाहनों बिक्री में आधे से ज्यादा नैचुरल गैस चालित वाहन होंगे। ग्लोबल कंसल्टेंसी फर्म Nomura रिसर्च इंस्टीट्यूट की रिपोर्ट के मुताबिक नैचुरल गैस इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट के डेवलपमेंट प्लान से देश में 4 लाख नई नौकरियां पैदा होंगी। वहीं सीएनजी से चलने वाले कॉमर्शियल व्हीकल से 5 से 8 हजार की मंथली बचत की जा सकेगी। साथ ही इससे प्रदूषण के स्तर को कम करने में मदद मिलेगी। 

 
सरकार के बचेंगे 11 लाख करोड़ रुपए 
पेट्रोलियम एंड नैचुरल गैस रेग्युलेटरी बोर्ड ने इसी माह देश के 124 जिलों में सीएनजी इंफ्रास्ट्रक्चर खड़ा करने के लिए 10वें राउंड की बिडिंग शुरू की है। सरकार की ओर से उठाए जा रहे इस कदम अगले 10 साल में 50 फीसदी वाहन नैचुरल गैस से चलाए जा सकेंगे। ग्लोबल कंसल्टेंसी फर्म Nomura रिसर्च इंस्टीट्यूट की रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसे में क्रूड ऑयल के इंपोर्ट पर आने वाले खर्च में सरकार के 11 लाख करोड़ रुपए की बचत होगी।
 
सीएनजी व्हीकल की बढ़ी बिक्री
Maruti Suzuki और Hyundai मोटर्स इस वक्त देश में सीएनजी व्हीकल की बिक्री करने वाले सबसे बड़े प्लेयर हैं। चालू वित्त वर्ष के पहले हॉफ में सीएनजी कार की बिक्री में 50 फीसदी का इजाफा हुआ है। इस दौरान 55 हजार से ज्यादा यूनिट बिकी हैं। Hyundai की हालिया लॉन्च Santro के सीएनजी वेरियंट की सबसे ज्यादा डिमांड रही है। 
 
आगे पढ़ें
इन राज्यों में सीएनजी व्हीकल की सबसे ज्यादा डिमांड
सीएनजी व्हीकल की सबसे ज्यादा डिमांड दिल्ली एनसीआर में सबसे ज्यादा रही है। इसके बाद गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश और पंजाब में इसकी बिक्री हुई है। देशभर में अप्रैल 2018 तक 1424 सीएसनजी स्टेशन थे। 
 
सीएनजी के अलावा एलएनजी की बढ़ेगी मांग
रिपोर्ट में कहा गया कि सीएनजी कार और हल्के वाहनों के फ्यूल के तौर पर इस्तेमाल करना बेहतर होगा, जबकि भार वाहनों जैसे ट्रक के लिए एलएनजी का उपयोग बेहतर होगा, क्योंकि एलएनजी को कम स्पेस में ज्यादा मात्रा में स्टोर किया जा सकता है। 
 
आगे पढ़ें
 

पीएम मोदी ने लॉन्च किए सीएनजी प्रोजेक्ट
पीएम मोदी ने देश के 65 शहरो में सीएनजी प्रोजेक्ट लॉन्च किए। ऐसे मे 10वीं सिटी गैस लाइसेंसिंग राउंड में LPG सप्लायर्स की शीर्ष बॉडी ने अपने लिए एक लेवल प्लेइंग फील्ड की मांग की और कहा कि एलपीजी भी सीएनजी की तरह प्रदूषण को कम करने में कारगर है। ऐसे में उसे क्यों नहीं सिटी गैस बिडिंग राउंड में शामिल किया जाता है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट