Home » Economy » GSTजीएसटी में सस्ते होने वाले प्रोडक्ट्स की लिस्ट सरकार ने दी लिस्ट - उपभोक्ताओं को राहत - Goverment Has Issued Product List Which Will Have Less GST

GST में सस्ते प्रोडक्ट्स की आई सरकारी लिस्ट, चेक करें उठाएं फायदा

अगर आप बाजार में खरीदारी करने निकल रहे हैं तो एक नजर इस लिस्‍ट पर भी डाल लें ताकि आपको ज्‍यादा जीएसटी लेकर ठगा न जा सके।

1 of

नई दिल्‍ली. जीएसटी काउंसिल की 10 नवंबर को हुई मीटिंग में कई प्रोडक्‍ट्स पर टैक्‍स घटा दिया गया है। लेकिन लोगों में अभी भी किन प्रोडक्‍ट्स पर कितना जीएसटी फाइनल हुआ है, इसे लेकर कन्‍फ्यूजन है। इसी को देखते हुए सरकार अब खुद जीएसटी में सस्‍ते हो चुके प्रोडक्‍ट्स की जानकारी जनता को दे रही है। इसके लिए सरकार ने अखबारों में GST में सस्‍ते हो चुके प्रोडक्‍ट्स की लिस्‍ट जारी की है। अगर आप अब बाजार में खरीदारी करने निकल रहे हैं तो एक नजर इस लिस्‍ट पर भी डाल लें ताकि आपको ज्‍यादा जीएसटी लेकर ठगा न जा सके। आइए बताते हैं कि सरकारी लिस्‍ट के मुताबिक अब किन प्रोडक्‍ट्स पर जीएसटी की दर घट चुकी है- 

 

आगे पढ़ें- किस प्रोडक्‍ट पर अब कितना जीएसटी 

प्रोडक्‍ट्स जिन पर अब 28 से 18 फीसदी हो गया टैक्‍स


- फर्नीचर, मैट्रेस 
- ट्रंक, सूटकेस, वैनिटी केस, ब्रीफकेस, ट्रैवलिंग बैग व अन्‍य हैंड बैग्‍स व केस
- डिटर्जेंट, वाशिंग व क्‍लीनिंग लिक्विड या डिटर्जेंट
- शैंपू, हेयर क्रीम, हेयर डाई (नेचुरल, हर्बल व सिंथेटिक), हिना पाउडर या पेस्‍ट  
- परफ्यूम, टॉयलेट वाटर्स
- ब्‍यूटी व मेकअप का सामान
- लैंप्‍स व लाइटिंग फिटिंग्‍स
- प्राइमरी सैल और प्राइमरी बैटरी
- सैनिटरी वेयर और पार्ट्स
- प्‍लास्टिक, फ्लोर कवरिंग्‍स, बाथ्‍स, शॉवर का सामान, सिंक, वॉश बेसिन, सीट, प्‍लास्टिक सैनिटरी वेयर
- हर तरह की सिरेमिक टाइल्‍स
- वैक्‍यूम फ्लास्‍क्‍स, लाइटर्स जैसे सामान
- रिस्‍ट वॉच, घड़ी, वॉच केस, स्‍ट्रैप्‍स, पार्ट्स
- लेदर की क्‍लोथिंग एसेसरीज, गट्स, फर्स्किन, आर्टिफीशियल फर और किसी भी जानवर की जीन आदि जैसा सामान
- कटलरी, स्‍टोव, कुकर और ऐसे ही नॉन-इलेक्ट्रिक घरेलू अप्‍लायंसेज और उनसे जुड़ा सामान
- रेजर व रेजर ब्‍लेड
- मल्‍टी फंक्‍शनल प्रिन्‍टर्स, कार्टरिज्‍स 

 

अब ये भी हैं 18 फीसदी टैक्‍स में 


- दरवाजे, खिड़कियां और एल्‍युमीनियम के फ्रेम 
- प्‍लास्‍टर के सामान जैसे बोर्ड, शीट
- सीमेंट या कंक्रीट या स्‍टोन और आर्टिफीशियल स्‍टोन के सामान
- सिरेमिक फ्लोरिंग ब्‍लॉक्‍स, पाइप, कन्‍डुइट्स, पाइप फिटिंग्‍स
- वॉलपेपर्स और वॉल कवरिंग
- हर तरह का कांच और उससे बना सामान जैसे शीशा, सेफ्टी ग्‍लास, शीट्स, ग्‍लासवेयर
- रेडियो और टेलिविजन ब्रॉडकास्टिंग के लिए इलेक्ट्रिकल उपकरण 
- साउंड रिकॉर्डिंग या रिप्रॉड्यूसिंग उपकरण 
- सभी तरह के म्‍यूजिकल इंस्‍ट्रूमेंट और उनके पार्ट
- आर्टिफीशियल फूल, फॉलिएज और आर्टिफीशियल फल
- विस्‍फोटक पदार्थ, एंटीनॉकिंग प्रिपरेशंस, पटाखे
- कोकोआ बटर, फैट, ऑयल पाउडर
- कॉफी एक्‍स्‍ट्रैक्‍ट, एसेंस और कंसंट्रेट्स, विभिन्‍न तरह की खाने की चीजें 
- चॉकलेट, च्‍युंइगम या बबलगम
- जौ का रस और इसके आटे से बनी खाने की चीजें, दलिया, स्‍टार्च
- चॉकलेट कोटेड या चॉकलेट से बने वैफल्‍स और वेफर्स  
- वायर, केबल, इलेक्ट्रिक प्‍लग्‍स, स्विच, सॉकेट, फ्यूज
- पार्टिकल या फाइबर बोर्ड्स और प्‍लाईवुड, लकड़ी का बना सामान, वुडन फ्रेम, पेविंग ब्‍लॉक्‍स 
- फिजिकल एक्‍सरसाइज के उपकरण, त्‍योहार व कार्निवल का सामान
- धूप के चश्‍मे  

प्रोडक्‍ट्स जिन पर 18 से 5 फीसदी हो गया टैक्‍स 


- पफ्ड राइस चिक्‍की, मूंगफली चिक्‍की, तिल चिक्‍की, रेवड़ी, तिलरेवड़ी, खाजा, कजुआली, ग्राउंडनट स्‍वीट्स गट्टा, कुलिया
- ब्रांड नेम वाले कंटेनर में भरा हुआ आलू का आटा 
- चटनी पाउडर

18 से 12 फीसदी टैक्‍स पर आए प्रोडक्‍ट्स 


- कंडेस्‍ड मिल्‍क
- रिफाइंड शुगर व शुगर क्‍यूब्‍स
- पास्‍ता, करी पेस्‍ट, मैयोनेज और सलाद ड्रेसिंग्‍स, मिक्‍स्‍ड कॉन्‍डीनेंट व मिक्‍स्‍ड सीजनिंग 
- डायबिटिक फूड, मेडिसिनल ग्रेड ऑक्‍सीजन
- प्रिन्टिंग इंक
- जूट और कॉटन के बने हैंड बैग्‍स व शॉपिंग बैग्‍स 
- हैट, चश्‍मे का फ्रेम 
- बांस या बेंत के फर्नीचर 

12 से 5 फीसदी टैक्‍स पर आए प्रोडक्‍ट्स


- नारियल का बुरादा
- इडली, डोसा बैटर 
- फिनिश्‍ड लेदर, चामोइस और कंपोजीशन लेदर
- कॉयर कॉर्ड व रस्‍सी, जूट की रस्‍सी, कॉयर प्रोडक्‍ट्स
- फिशिंग नेट व फिशिंग हुक
- फ्लाई ऐश ब्रिक्‍स

5 से शून्‍य फीसदी टैक्‍स पर आए प्रोडक्‍ट्स


- ग्‍वार से बना खाना
- होप कोन (बिना पिसा, पाउडर या पैलेट फॉर्म से अलग)
- स्‍वीट पोटैटो, मैनिअक जैसी कुछ ड्राई वेजिटेबल
- अनवर्क्‍ड कोकोनट शेल
- फ्रोजन या ड्राई फिश (ब्रांड नेम वाले कंटेनर में पैक रहित)  
- खांडसारी शुगर

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट