बिज़नेस न्यूज़ » Economy » GSTGST काउंसिल का बड़ा फैसला, 28% टैक्स ब्रेकेट से 177 आइटम बाहर

GST काउंसिल का बड़ा फैसला, 28% टैक्स ब्रेकेट से 177 आइटम बाहर

गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) काउंसिल ने 28 फीसदी के सबसे ऊंचे टैक्स ब्रेकेट में महज 50 आइटम रखने का फैसला लिया।

1 of
 
नई दिल्ली. गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) काउंसिल ने 28 फीसदी के सबसे ऊंचे टैक्स ब्रेकेट में महज 50 आइटम रखने का फैसला लिया। इनमें अधिकांश डिमेरिट, सिन और लग्जरी गुड्स शामिल हैं। यह जानकारी बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने दी।
उन्होंने कहा कि अब च्वुइंगम, चॉकलेट, ऑफ्टर शेव, डिओड्रैंट, वाशिंग पाउडर, डिटर्जेंट, मार्बल पर अब कम यानी 18 फीसदी जीएसटी लगेगा।
 
 
 
200 वस्‍तुओं पर घट सकता है कर
इससे पहले शुक्रवार को सुशील मोदी ने उम्‍मीद जताई थी कि शुकवार को होने वाली GST काउंसिल की बैठक में 200 रोज इस्‍तेमाल होने वाली वस्‍तुओं पर टैक्‍स घटाया जा सकता है। इन वस्‍तुओं को 28 फीसदी के टैक्‍स स्‍लैब के 18 फीसदी पर लाया जा सकता है। इनमें रोजमर्रा के इस्‍तेमाल की वस्‍तुएं के अलावा प्‍लास्टिक प्रोडक्‍ट और हैंड मैड फर्नीचर जैसे सामान भी शामिल हो सकते हैं। इससे कंज्‍यूमर्स और इनकी मैन्युफैक्चरिंग से जुड़ी कंपनियों को राहत मिलेगी।
 
मीटिंग में जाने के पहले उन्‍होंने पटना में पत्रकारों से कहा कि छोटे कारोबारियों को राहत देने के लिए कई वस्‍तुओं को 28 फीसदी के टैक्‍स रेट से 18 फीसदी पर लाया जा सकता है। इसमें 200 से ज्‍यादा वस्‍तुए शामिल हो सकती हैं।
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट