बिज़नेस न्यूज़ » Economy » GSTबी एन शर्मा बने एंटी प्रॉफियटरिंग अथारिटी के चेयरमैन, मुनाफावसूली पर लगाएंगे लगाम

बी एन शर्मा बने एंटी प्रॉफियटरिंग अथारिटी के चेयरमैन, मुनाफावसूली पर लगाएंगे लगाम

सरकार ने राजस्थान कैडर के आईएस अधिकारी बद्री नारायण शर्मा को नैशनल एंटी प्रॉफियटरिंग अथॉरिटी (एनएए) का चेयरमैन बना दिया

B N Sharma appointed Chairman of National AntiProfiteering Authority

नयी दिल्ली। सरकार ने राजस्थान कैडर के आईएस अधिकारी बद्री नारायण शर्मा को नैशनल एंटी प्रॉफियटरिंग अथॉरिटी (एनएए) का चेयरमैन बना दिया है। साल1985 बैच के आईएएस अधिकारी शर्मा को साल 2015 में ऊर्जा मंत्रालय में अपर सचिव के पद पर नियुक्त किया गया था। अपने इस पद पर शर्मा की जिम्मेदारी कस्टमर को मुनाफाखोरी से बचाना होगा। 

 

कस्टमर्स के हितों के लिए बनाई एनएए

 

हाल में ही 17 तारीख को सेंट्रल मिनिस्ट्री ने जीएसटी के तहत नैशनल एंटी प्रॉफियटरिंग अथॉरिटी बनाने की मंजूरी दी थी। इसे बनाने के पीछे सरकार का मकसद कस्टमर को एंटी प्रॉफियटरिंग से बचाना था। ऐसा न हो की कंपनियां रेट कट का फायदा इन्पुट कॉस्ट के बहाने से कस्टमर को पास न करें। सरकार चाहती है कि जीएसटी के तहत उसने जो टैक्स रेट कम किए हैं उसका फायदा कस्टमर को मिल सके।

 

 

दो साल का कार्यकाल होगा शर्मा का

 

कैबिनेट सचिव पीके सिन्हा की अगुआई वाली एक समिति के फैसले के बाद एनएए के चेयरमैन और उसके सदस्यों की नियुक्ति पर सरकार की ओर से यह फैसला लिया गया है। अथॉरिटी का कार्यकाल चेयरमैन के पद संभालने की तारीख से दो साल का होगा। इस पद के लिए चेयरमैन और चार सदस्यों की उम्र 62 साल से कम होना जरूरी है।

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट