Home » Economy » GSTNAA will take action against those who charge more tax

ज्यादा GST लेने वालों पर होगी कार्रवाई, नेशनल एंटी प्रोफिटियरिंग अथॉरिटी को मंजूरी

GST के टैक्स में बदलाव करने के बाद भी अगर कारोबारी कस्टमर को फायदा नहीं दे रहे हैं तो उन पर कार्रवाई की जाएगी।

1 of

नई दिल्‍ली.  सरकार ने GST के तहत नेशनल एंटी प्रोफिटियरिंग अथॉरिटी (NAA) बनाई है। कैबिनेट ने गुरुवार को इस प्रपोजल को मंजूरी दे दी। यह अथॉरिटी GST में कम किए गए टैक्‍स का फायदा कस्टमर को न देने वाले कारोबारियों पर कार्रवाई करेगी। NAA में कस्टमर से लेकर कोई भी जीएसटी विक्टिम शिकायत कर सकता है।

 

कैसे करेंगे शिकायत?
- अगर किसी कस्टमर को लगता है कि उससे किसी सामान या सर्विस के लिए GST के तहत ज्‍यादा पैसे लिए गए हैं तो वह इसकी शिकायत NAA की स्‍क्रीनिंग कमेटी के सामने कर सकता है। 
- कस्टमर को यह शिकायत उसी राज्‍य में करनी होगी, जहां से जुड़ा यह मामला होगा।
- अगर मामला ऐसा है, जिससे कई राज्‍य के लोगों पर असर हो सकता है तो शिकायत सीधे स्‍टैंडिंग कमेटी के सामने रखी जा सकती है।

 

डीजी सेफगार्ड के पास जाएगा मामला
- शुरुआती जांच में शिकायत सही पाई जाएगी तो उसे आगे की जांच के लिए डायरेक्‍टर जनरल सेफगार्ड के पास भेजा जाएगा। 
- जांच के बाद डीजी अपनी रिपोर्ट NAA के पास भेजेंगे। इसके बाद NAA इस पर कार्रवाई करेगा।

 

अथॉरिटी में होंगे 5 मेंबर
- NAA में 5 मेंबर होंगे। इसके प्रेसिडेंट कैबिनेट सेक्रेटरी पीके सिन्‍हा होंगे। इसके मेंबर्स में रेवेन्‍यु सेक्रेटरी हसमुख अढिया, सीबीएसई चेयरमैन वनाजा सरन और दो राज्‍यों के चीफ सेक्रेटरी होंगे।

- यह अथॉरिटी सिर्फ दो साल के लिए ही बनाई गई है। प्रेसिडेंट की पोस्ट संभालने के दो साल के बाद यह अपने आप खत्‍म मान ली जाएगी। ​

 

वापस कराया जाएगा ज्‍यादा वसूला पैसा

- कारोबारी ने कस्टमर से जीएसटी के नाम पर अगर ज्यादा पैसा लिया है तो डीजी की जांच रिपोर्ट के बाद NAA कारोबारी से ब्याज समेत पैसा वापस करवाएगा। अगर कारोबारी ने पैसा लौटाया, लेकिन किसी वजह से यह कस्टमर तक नहीं पहुंच पाया तो इसे कंज्‍यूमर वेलफेयर फंड में डाल दिया जाएगा।

 

GST रजिस्‍ट्रेशन भी हो सकता है कैंसिल
- NAA को अगर लगता है कि ज्‍यादा सख्‍त कार्रवाई की जरूरत है तो वह संबंधित कारोबारी का GST रजिस्‍ट्रेशन भी कैंसल कर सकता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट