विज्ञापन
Home » Economy » GSTBusiness files with more than 2 crore turnover to be able to file GST audit report, the forms released

GST / 2 करोड़ से ज्यादा टर्नओवर वाले कारोबारी फाइल कर सकेंगे GST ऑडिट रिपोर्ट, जारी हुए फॉर्म 

जीएसटी नेटवर्क (GSTN) ने अपने पोर्टल पर इसके लिए जारी किए फॉर्म

Business files with more than 2 crore turnover to be able to file GST audit report, the forms released
  • मिनिस्ट्री ने 31 दिसंबर, 2018 को नोटिफाई किए थे सालाना रिटर्न फॉर्म GSTR-9, GSTR-9A और GSTR-9C 
  • जीएसटी काउंसिल ने दिसंबर में इन फॉर्म्स की फाइलिंग की लास्ट डेट तीन महीने बढ़ाकर 30 जून कर दी थी

 

नई दिल्ली. 2 करोड़ रुपए से ज्यादा सालाना टर्नओवर वाले कारोबारी अब वित्त वर्ष 2017-18 के लिए जीएसटी (GST) ऑडिट रिपोर्ट्स (audit reports) की फाइलिंग शुरू कर सकते हैं। जीएसटी नेटवर्क (GSTN) ने अपने पोर्टल पर इसके फॉर्म जारी कर दिए हैं। गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स (GST) के पहले साल यानी 2017-18 के लिए ऑडिट रिपोर्ट 30 जून को फाइल की गई थी।

 

30 जून है लास्ट डेट

मिनिस्ट्री ने 31 दिसंबर, 2018 को सालाना रिटर्न फॉर्म GSTR-9, GSTR-9A और GSTR-9C को नोटिफाई किया था। जीएसटी काउंसिल (GST Council) ने दिसंबर में इन फॉर्म्स की फाइलिंग की लास्ट डेट तीन महीने बढ़ाकर 30 जून कर दी थी।

 

GSTN पोर्टल पर उपलब्ध हुए फॉर्म

जीएसटीएन (GSTN) ने GSTR-9C को ऑफलाइन उपलब्ध करा दिया है, जिसे टैक्सपेयर द्वारा फाइल और पोर्टल पर अपलोड किया जा सकता है। GSTR-9, जीएसटी (GST) के अंतर्गत रजिस्टर्ड सभी टैक्सपेयर्स के लिए सालाना रिटर्न फॉर्म है, वहीं GSTR-9A कम्पोजिशन टैक्सपेयर्स के लिए है। 

 

GSTR-9C को सीए से कराना होगा सत्यापित

GSTR-9C एक मिलान स्टेटमेंट है, जिसे एक चार्टर्ड अकाउंटैंस या एक कॉस्ट अकाउंटैंट द्वारा सत्यापित और उस पर हस्ताक्षर किया जाता है। इसे वित्त वर्ष के दौरान 2 करोड़ रुपए से ज्यादा टर्नओवर वाले टैक्सपेयर द्वारा सालाना रिटर्न फाइल करने के लिए जमा करना होता है।

 

इंडस्ट्री लंबे समय से कर रही थी इंतजार

ईवाई के टैक्स पार्टनर अभिषेक जैन ने कहा कि इंडस्ट्री लंबे समय से इस ऑफलाइन फॉर्म और जीएसटीआर-9सी की ऑनलाइन फाइलिंग की सुविधा का इंतजार कर रही थी। जैन ने कहा, ‘ऑडिटल के डिजिटल सिग्नेचर जैसे क्लैरिफिकेशन, बैलेंसशीट और प्रॉफिट/लॉस अकाउंट अटैच किया जा रहा है। इससे इस कंप्लायंस के लिए कारोबारियों को मदद मिलनी चाहिए।’

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन