Home » Economy » GSTTake advantage of reduce GST tax

GST : सुशील मोदी ने कहा 27 जुलाई तक न करें खरीदारी, घटे टैक्‍स का बाद में उठाएं फायदा

GST में टैक्‍स स्‍लैब को 5 से घटा कर 3 किया जा सकता है।

Take advantage of reduce GST tax

 

नई दिल्‍ली. GST काउंसिल ने कई दर्जन वस्‍तुओं पर टैक्‍स को घटाया है, लेकिन यह 27 जुलाई से लागू होगा। जीएसटी हाई लेबल मिनिस्‍टर्स पैनल के अध्‍यक्ष और बिहार के उप मुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने जनता से अपील की है कि अगर बहुत जरूरी न हो तो 27 जुलाई के बाद ही खरीदारी करें। क्‍योंकि जीएसटी की घटी दरें उसी दिन से लागू होंगी। उन्होंने कहा कि शनिवार को उपभोक्ता वस्तुओं में टैक्‍स की दर में कटौती को केंद्र और राज्य सरकारें 27 जुलाई तक अधिसूचित कर पाएंगी।

 

 

GST में टैक्‍स स्‍लैब 5 से घट कर हो सकते हैं 3

GST के तहत टैक्‍स स्‍लैब में कमी आ सकती है। अभी जीएसटी में 5 टैक्‍स स्‍लैब हैं, जिन्‍हें भविष्‍य में घटाकर 3 किया जा सकता है। सुशील कुमार मोदी ने इस बात के भी संकेत दिए हैं। उन्‍होंने कहा कि भविष्‍य में ऐसा हो सकता है। वहीं उन्‍होंने कहा कि पांच करोड़ तक के टर्नओववर वालों को त्रैमासिक रिटर्न दाखिल करने की बड़ी राहत देने के बाद अब छोटे व लघु उद्योगों की समस्याओं पर विचार के लिए चार अगस्त को नई दिल्ली में जीएसटी परिषद की विशेष बैठक बुलाई गई है।

 

इन वस्‍तुओं पर घटा टैक्‍स

मोदी ने कहा कि सेनेटरी नैपकिन और सभी तरह के भगवान की मूर्तियों के साथ ही बिहार की प्रसिद्ध हस्तकला सुजनी, टिकुली क्राफ्ट, एपलिक (कपड़ों पर कढ़ाई-बुनाई) को जहां पूरी तरह से टैक्‍स फ्री कर दिया गया है, वहीं सभी तरह के पेंट, वार्निश, इनेमल, पुट्टी, वाटर हीटर, रेफ्रिजरेटर, वाशिंग मशीन, हेयर सेवर, 68 सेंटीमीटर तक की टीवी आदि पर 28 से घटाकर 18 प्रतिशत, 1000 रुपए मूल्य तक के फूटवियर पर 18 से घटाकर पांच प्रतिशत, हैंडलूम की दरियां, हाथ से बने कारपेट आदि पर 12 से घटाकर पांच प्रतिशत कर किया गया है।

 

4 अगस्‍त की बैठक में होंगे बड़े फैसले

उन्होंने कहा कि जीएसटी के पूर्व डेढ़ करोड़ से कम टर्नओवर वाले सूक्ष्म व लघु उद्योगों को एक्साइज ड्यूटी से मुक्त रखा गया था, मगर जीएसटी में शामिल करने के बाद इन्हें अनेक तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। चार अगस्त को परिषद की विशेष बैठक में छोटे उद्योगों की समस्याओं पर विचार के लिए कई उद्योग संगठनों के प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया गया है।

 

जीएसटी के बाद महंगाई काबू में रही

मोदी ने कहा कि दुनिया के अधिकांश देशों में जीएसटी लागू होने के बाद महंगाई बढ़ी, ब्रिटेन और न्यूजीलैंड में तो महंगाई दो अंकों में चली गई, वहीं भारत में कर की दरों को लगातार युक्तिसंगत बनाए जाने के कारण महंगाई नियंत्रित रही है।

 

 

चुनाव के कारण की गई जीएसटी दरों में कटौती

कांग्रेसी नेता और पूर्व वित्‍तमंत्री पी. चिदंबरम ने एक में कहा है कि ट्वीट जब चुनाव करीब आए, सरकार ने दरों में कटौती की। मेरा मानना है कि यह विभिन्न राज्यों में जल्दी-जल्दी चुनाव कराने के पक्ष में एक अच्छी दलील हो सकती है। फैसले को 'देर से आने वाली अक्लमंदी' बताते हुए उन्होंने सवाल किया कि यह फैसला पहले क्यों नहीं लिया गया। कांग्रेस नेता चिदंबरम ने मौजूदा जीएसटी व्यवस्था को 'बगैर-सुधार' वाली और त्रुटिपूर्ण बताते हुए तीन दर वाली व्यवस्था को तत्काल लागू करने की वकालत की।


 

GST : 28% टैक्‍स स्‍लैब में रह गए सिर्फ 35 आइटम, एक साल में सस्‍ते हुए 191 प्रोडक्ट 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट