Advertisement
Home » इकोनॉमी » जीएसटीलॉजिस्टिक सेक्टर में आएंगी 30 लाख नई नौकरियां, GST लागू होने का असर: रिपोर्ट

लॉजिस्टिक सेक्टर में आएंगी 30 लाख नई नौकरियां, GST लागू होने का असर: रिपोर्ट

देश के लॉजिस्टिक्स सेक्टर में अगले चार साल में 3 मिलियन यानी करीब 30 लाख नई नौकरियां तैयार होंगी।

1 of

नई दिल्ली। देश के लॉजिस्टिक्स सेक्टर में अगले चार साल में 3 मिलियन यानी करीब 30 लाख नई नौकरियां तैयार होंगी। गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स  (GST) के लागू होने और इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में निवेश बढ़ने की वजह से यह संभावना बनी है। ये बातें टीमलीज     की एक रिपोर्ट में कही गई हैं। यह रिपोर्ट ‘इंडियन लॉजिस्टिक्स रिवॉल्यूशन- बिग बेट, बिग जॉब्स’ के नाम से जारी की गई है। 

 

 

इन 7 सब-सेक्टर में आएंगी नौकरियां
रिपोर्ट के अनुसार 7 सब सेक्टर मसलन सड़क ढुलाई, रेल ढुलाई, वेयरहाउसिंग, जलमार्ग, विमान ढुलाई, पैकेजिंग और कूरियर सर्विसेज में आने वाले 4 साल में करीब 30 लाख नई नौकरियां पैदा होंगी। इससे 2022 तक इस क्षेत्र में रोजगार का आंकड़ा बढ़कर 1.09 करोड़ से बढ़कर 1.39 करोड़ पहुंच जाएगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि सड़क ढुलाई क्षेत्र में 18.9 लाख, रेल ढुलाई में 40 हजार, विमान ढुलाई में 4 लाख और जलमार्ग क्षेत्र में 4.5 लाख इनक्रीमेंटल जॉब्स के नए अवसर होंगे। 
 

Advertisement

नए फेज में लॉजिस्टिक सेक्टर 
टीमलीज सर्विसेज के को-फाउंडर और ईवीपी रितुपर्णो चक्रबॉर्ती का कहना है कि देश का लॉजिस्टिक सेक्टर अब नए फेज में पहुंच रहा है। सेक्टर में पब्लिक इन्वेस्टमेंट बढ़ रहा है। वहीं, पिछले दिनों जीएसटी सहित जो नए बदलाव हुए हें, उनकी वजह से कई सेक्टर मसलन एफएमसीजी, मैन्युफैक्चरिंग, ई-कॉमर्स आदि में डिमांड बढ़ रही है। सेक्टर में टेक्नोलॉजी का रोल बढ़ने का भी फायदा मिला है। 
 

GST की प्रमुख भूमिका
रिपोर्ट में कहा गया है कि इस सेक्टर की ग्रोथ के पीछे 6 लाख करोड़ रुपए के पब्लिक इन्वेस्टमेंट, सेक्टर को इंफ्रास्ट्रक्चरर स्टेटस मिलने और जीएसटी के लागू होने की प्रमुख भूमिका रही है। रिपोर्अ के अनुसार सड़क ढुलाई क्षेत्र में सबसे अधिक रोजगार के अवसर मुंबई, दिल्ली - एनसीआर और अहमदाबाद में उपलब्ध होंगे। वहीं इलाहाबाद, अहमदाबाद, चेन्नई और गुवाहाटी में सबसे अधिक जलमार्ग क्षेत्र में रोजगार के अवसर मिलेंगे।

Advertisement

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement