विज्ञापन
Home » Economy » GSTGST collection drops to Rs 97,247 cr in Feb

फरवरी में घटा GST कलेक्शन, घटकर रह गया 97247 करोड़ रुपए

जनवरी में कई गुड्स और सर्विसेस पर टैक्स रेट्स में कमी से लगा झटका

GST collection drops to Rs 97,247 cr in Feb

नई दिल्ली. गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स (GST) के मोर्चे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली सरकार को तगड़ा झटका लगा है। दरअसल फरवरी में GST कलेक्शन घटकर 97,247 करोड़ रुपए रह गया, जबकि पिछले महीने यानी जनवरी में यह आंकड़ा 1.02 लाख करोड़ रुपए रहा था। वित्त मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को जारी टैक्स कलेक्शन के आंकड़ों में ये बातें सामने आई हैं।

 

जीएसटीआर-3बी की फाइलिंग बढ़ी

हालांकि जनवरी महीने के लिए 28 फरवरी तक फाइल किए गए सेल्स रिटर्न या जीएसटीआर-3 बी (GSTR- 3B) की संख्या और कंप्लायंस में सुधार दर्ज किया गया है, जो 73.48 लाख के स्तर पर पहुंच गई। वहीं जनवरी में 73.3 लाख रिटर्न फाइल किए गए थे।

 

जीएसटी से मिला कुल 97,247 करोड़ रु का रेवेन्यू 

मिनिस्ट्री ने एक बयान में कहा, ‘फरवरी में जीएसटी से कुल 97,247 करोड़ रुपए का रेवेन्यू मिला। इसमें 17,626 करोड़ रुपए सेंट्रल जीएसटी और 24,192 करोड़ रुपए स्टेट जीएसटी, 46,953 करोड़ रुपए इंटिग्रेटेड जीएसटी और 8,476 करोड़ रुपए सेस शामिल था।’ फरवरी, 2018 की तुलना में फरवरी, 2019 में जीएसटी कलेक्शन 13.12 फीसदी ज्यादा था। फरवरी, 2018 में जीएसटी कलेक्शन 85,962 करोड़ रुपएरहा था।

 

23 गुड्स और सर्विसेस पर जनवरी में घटाया था टैक्स

टैक्स एक्सपर्ट्स ने जीएसटी कलेक्शन में कमी की वजह 23 गुड्स और सर्विसेस पर टैक्स रेट में कमी को बताया, जिसमें मूवी टिकट, टीवी, पावर बैंक और मॉनिटर स्क्रीन शामिल हैं। जीएसटी रेट्स में यह कमी 1 जनवरी से लागू हुई थी।

 

पुल्लीस, ट्रांसमिशन शाफ्ट और क्रैंक्स, गियर बॉक्स, यूज्ड टायर, डिजिटल कैमरा, वीडियो कैमरा रिकॉर्डर और वीडियो गेम कंसोल्स सहित कई आइटम्स पर जीएसटी 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी कर दिया गया था।
ईवाई के टैक्स पार्टनर अभिषेक जैन ने कहा, ‘भले ही जीएसटी कलेक्शन वित्त वर्ष के औसत कलेक्शन के अनुरूप ही रहा है, लेकिन पिछले महीने की तुलना में इसमें कमी दर्ज की गई। इसकी मुख्य वजह जनवरी में कुछ गुड्स और सर्विसेस पर जीएसटी रेट्स में बदलाव रही है।’
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss