विज्ञापन
Home » Economy » GSTFinMin allows businesses to claim GST input credit benefit for FY'18 till Mar 2019

मार्च, 2019 तक GST इनपुट क्रेडिट क्लेम कर सकेंगे कारोबारी, वित्त मंत्रालय ने दी मंजूरी

GST: वित्त वर्ष 2018 के लिए सरकार ने दी कारोबारियों को सौगात

FinMin allows businesses to claim GST input credit benefit for FY'18 till Mar 2019
GST: अब कारोबारी गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) के पहले वित्त वर्ष के लिए इनपुट टैक्स क्रेडिट बेनिफिट के लिए मार्च, 2019 तक दावा कर सकते हैं। वित्त मंत्रालय ने इसके लिए कारोबारियों को मंजूरी दे दी है। इससे कारोबारियों को अपने सप्लायर्स द्वारा फाइल किए गए रिटर्न के साथ मिलान के लिए ज्यादा वक्त मिल गया है। इनपुट टैक्स क्रेडिट (ITC) क्लेम करने की डेडलाइन 25 अक्टूबर, 2018 को खत्म हो गई थी।
 

 

नई दिल्ली. अब कारोबारी गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) के पहले वित्त वर्ष के लिए इनपुट टैक्स क्रेडिट बेनिफिट के लिए मार्च, 2019 तक दावा कर सकते हैं। वित्त मंत्रालय ने इसके लिए कारोबारियों को मंजूरी दे दी है। इससे कारोबारियों को अपने सप्लायर्स द्वारा फाइल किए गए रिटर्न के साथ मिलान के लिए ज्यादा वक्त मिल गया है। इनपुट टैक्स क्रेडिट (ITC) क्लेम करने की डेडलाइन 25 अक्टूबर, 2018 को खत्म हो गई थी।

 

आईटीसी क्लेम्स का जीएसटीआर-2ए से करना होगा मिलान

टैक्स एक्सपर्ट्स ने कहा कि पहले ऐसे कारोबारियों को आईटीसी क्लेम करने की अनुमति दी गई थी, जिन्होंने इनवॉयस जनरेट की हों, टैक्स का भुगतान किया और रिटर्न फाइल किया हो। हालांकि सीबीआईसी ने हाल के आदेश में कहा गया है कि आईटीसी क्लेम्स का जीएसटीआर-2ए से मिलान करना होगा। जीएसटीआर-2 ए सप्लायर्स द्वारा सेल्स के आधार पर फाइल किए गए रिटर्न के आधार पर सिस्टम से ऑटो-जनरेटेड है।

 

सीबीआईसी ने जारी किया नोटिफिकेशन

सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेस एंड कस्टम्स (CBIC) ने एक गैजेट नोटिफिकेशन के माध्यम से आदेश जारी किया कि GST के पहले साल (जुलाई, 2017 से मार्च, 2018 तक) के लिए 31 मार्च, 2019 तक आईटीसी क्लेम करने की अनुमति दी जाएगी। जीएसटी 1 जुलाई, 2017 को लागू हुआ था।

 

गलती भी सुधार सकते हैं कारोबारी

इसके अलावा CBIC ने कारोबारियों को जुलाई, 2017 से मार्च, 2018 तक की अवधि के लिए फाइनल सेल्स रिटर्न या GSTR-1 फाइल करने में किसी तरह की गलती या छूट पर सुधार करने भी अनुमति दी गई है। अब कारोबारी जनवरी-मार्च, 2019 के लिए फाइल किए जाने वाले रिटर्न में अपनी गलती सुधार सकते हैं।

एएमआरजी एंड एसोसिएट्स में पार्टनर रजत मोहन ने कहा, ‘इस छूट के करोड़ों लाखों टैक्सपेयर्स को फायदा होगा, जो अरबों रुपए का टैक्स क्रेडिट क्लेम कर सकेंगे। ’


 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन