विज्ञापन
Home » Economy » GSTGst cut on these items

ज्वैलरी, कार और कपड़े समेत इन वस्तुओं की खरीदारी होने जा रही है सस्ती, शादी के मौसम में सरकार दे रही है राहत

बॉय वन गेट वन ऑफर के तहत खरीददारी करने वालों मिली छूट

Gst cut on these items

Gst cut on these items: जीएसटी आप 10 लाख रुपए से ज्यादा कीमत वाली कार खरीदने का मन बना रहे हैं, तो आपके लिए राहत की खबर है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेस एडं कस्टम्स (सीबीआईसी) ने साफ किया है कि जीएसटी की गणना करते समय टीसीएस (टैक्स कलेकटेड एट सोर्स) की राशि को इन वस्तुओं की कीमत में नहीं जोड़ा जाएगा। ऐसा होने पर ग्राहकों को इन वस्तुओं के लिए कम राशि खर्च करनी पड़ेगी। 

नई दिल्ली. शादी की सीजन है। ऐसे में खरीदारी ज्वैलरी, कार और कपड़ों की खरीदारी पर राहत की खबर आई है। अगर आप कार खरीदने का मन बना रहे हैं, तो आपके लिए राहत की खबर है। 10 लाख रुपए से ज्यादा कीमत वाली कारें सस्ती होगी। दरअसल सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेस एडं कस्टम्स (सीबीआईसी) की ओर से साफ किया गया है कि जीएसटी की गणना करते समय टीसीएस (टैक्स कलेकटेड एट सोर्स) की राशि को इन वस्तुओं की कीमत में नहीं जोड़ा जाएगा। ऐसा होने पर ग्राहकों को इन वस्तुओं के लिए कम राशि खर्च करनी पड़ेगी। 

 

टीडीएस राशि को किया गया कम 

आयकर कानून के तहत 10 लाख रुपए से अधिक का वाहन, पांच लाख रुपए से अधिक की ज्वैलरी और दो लाख रुपए से अधिका का सराफा खरीदने पर एक प्रतिशत की दर से टीडीएस काटना होता था। इसके अलावा अन्य तरह की खरीदारी पर भी टीडीएस अलग-अलग दर से लगता था। सीबीआई ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा है कि जीएसटी की गणना करते समय वस्तु के मूल्य से टीडीएस की राशि को घटा दिया जाएगा।

दवा कंपनियों को मिलेगी राहत 

टीडीएस किसी वस्तु पर टैक्स नहीं है, बल्कि यह वस्तु की बिक्री के चलते होने वाली आय पर अंतरि टैक्स को लेकर है। इसके अलावा सीबीआईसी ने एक अन्य मामले में भी राहत देते हुए बॉय वन, गेट वन जैसे ऑफर पर भी जीएसटी में राहत दी है। मतलब इस ऑफऱ के तहत खरीदी जाने वाली वस्तुओं पर अलग-अलग टैक्स नहीं लगेगा। इसी तरह फ्री सैंपल और गिफ्ट को भी जीएसटी के दायरे से बाहर रखा है। इससे दवा कंपनियों को राहत मिलेगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन