GST ने मोदी सरकार को दी राहत, दरों में कमी के बाद भी बढ़ा औसत मासिक कलेक्शन

Monthly average of GST revenue register 9.2 percent higher during 2018-19: वित्त वर्ष 2018-19 में वस्तु एवं सेवा कर (GST) के तहत औसत मासिक राजस्व संग्रह बढ़कर 98,114 करोड़ रुपए पर पहुंच गया, जो वित्त वर्ष 2017-18 की तुलना में 9.2 प्रतिशत अधिक है।

Money Bhaskar

Apr 01,2019 03:06:00 PM IST

नई दिल्ली। वित्त वर्ष 2018-19 में वस्तु एवं सेवा कर (GST) के तहत औसत मासिक राजस्व संग्रह बढ़कर 98,114 करोड़ रुपए पर पहुंच गया, जो वित्त वर्ष 2017-18 की तुलना में 9.2 प्रतिशत अधिक है। सरकार द्वारा वित्त वर्ष के दौरान विभिन्न वस्तुओं एवं सेवाओं पर करों की दरों में कमी किए जाने के बावजूद औसत जीएसटी संग्रह में नौ प्रतिशत से ज्यादा की वृद्धि दर्ज की गई है।

मार्च में रिकॉर्ड 1,06,577 करोड़ रुपए का कलेक्शन
सरकार की ओर से सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, मार्च 2019 में कुल राजस्व संग्रह 1,06,577 करोड़ रुपए रहा, जो जीएसटी व्यवस्था शुरू होने के बाद से अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा है। मार्च 2018 में कुल जीएसटी संग्रह 92,167 करोड़ रुपए रहा था। इस प्रकार इसमें 15.63 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। वित्त मंत्रालय ने बताया कि मार्च 2019 में 20,353 करोड़ रुपए केंद्रीय जीएसटी, 27,520 करोड़ रुपए राज्य जीएसटी, 50,418 करोड़ रुपए एकीकृत जीएसटी और 8,286 करोड़ रुपए उपकर के रूप में प्राप्त हुए हैं। एकीकृत जीएसटी में 23,521 करोड़ रुपए और उपकर में 891 करोड़ रुपए आयात से प्राप्त हुए हैं।

फरवरी माह के लिए 75 लाख 95 हजार जीएसटीआर-3बी फॉर्म भरे गए
सेटलमेंट के बाद मार्च 2019 में केंद्र सरकार का कुल राजस्व 47,614 करोड़ रुपए और राज्य सरकार का राजस्व 51,209 करोड़ रुपए रहा है। एकीकृत जीएसटी में से केंद्र को 17,261 करोड़ रुपए और राज्यों को 13,689 करोड़ रुपए स्थायी सेटलमेंट के तौर पर दिए गए। इसके अलावा शेष राशि में से केंद्र को 10 हजार करोड़ रुपए और राज्यों को 10 हजार करोड़ रुपए अस्थायी सेटलमेंट के रूप में दिए गए हैं। फरवरी 2019 के लिए गत 31 मार्च तक कुल 75 लाख 95 हजार जीएसटीआर-3बी फॉर्म भरे गए थे।

X
COMMENT

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.