Home » Economy » GSTHUF& LLP और प्रॉपराइटर्स की जांच कर रहा है CBEC

HUF, LLP और प्रॉपराइटर्स की जांच कर रहा है CBEC, गलत क्लेम का है शक

प्रॉपराइटरशीप बिजनेस, एलएलपी और एचयूएफ सीबीईसी के स्कैनर में फंस गए हैं।

1 of

नई दिल्ली। प्रॉपराइटरशीप बिजनेस, एलएलपी और एचयूएफ सीबीईसी के स्कैनर में फंस गए हैं। अक्टूबर 2016 से जून 2017 तक जीएसटी में रजिस्ट्रेशन कराने वाले प्रॉपराइटरशीप बिजनेस, एलएलपी और एचयूएफ इन्पुट टैक्स क्रेडिट क्लेम करने के कारण सीबीईसी (सेंट्रल बोर्ड ऑफ एक्साइज एंड कस्टम) उनकी जांच कर रहा है।

 

सीबीईसी ने जारी की लिस्ट

 

सीबीईसी ने ऐसी ही इंडस्ट्रियल यूनिट की लिस्ट जारी की है। जीएसटी में गलत ट्रांजिशिनल क्रेडिट क्लेम करने वालों की चेकिंग की जा रही है। जांच में यह सामने आया कि कई ट्रेडर्स और छोटे कारोबारियों ने जीएसटी में रजिस्ट्रेशन एक्साइज और सर्विस टैक्स क्रेडिट लेने के लिए अप्लाई किया है, जो पहले वैट के समय में होता था।

 

कर रही है जांच

 

जांच में यह भी पता चला है कि एलएलपी, एचयूएफ और प्रॉपराइटशीप बिजनेस ने ट्रांजिशिनल क्रेडिट क्लेम के लिए अप्लाई किया है जो वैट के समय होता था और अब जीएसटी यह सिस्टम नहीं है। सीबीईसी ने सभी चीफ कमिश्नर को ट्रांजिशिनल क्रेडिट क्लेम की जांच करने के लिए कहा है जिनके क्लेम 1 करोड़ रुपए से ज्यादा है।

 

टैक्स चोरी रोकने के लिए हो रही है जांच

 

सीबीईसी के मुताबिक सितंबर 2017 में 65,0000 ट्रांजिशिनल इन्पुट क्रेडिट क्लेम आए थे। इनडायरेक्ट टैक्स एक्सपर्ट प्रतीक जैन ने कहा कि सीबीईसी ने यह एक्शन किसी जानकारी के आधार पर लिया होगा। ये टैक्स चोरी रोकने के लिेए किया जा रहा है।

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss