Home » Economy » GSTGST Impact - 36 Lakh New Taxpayer Added, MP-UP Leading

GST इम्पैक्ट: सरकार को मिले 36 लाख नए टैक्सपेयर, महाराष्ट्र-यूपी सबसे आगे

नए रजिस्ट्रेशन में महाराष्ट्र और यूपी आगे रहे। आंकड़ों के मुताबिक 36 लाख से ज्यादा टैक्सपेयर्स जीएसटी के दायरे में आए।

1 of

नई दिल्ली। जीएसटी लागू होने के बाद पहली बार सरकार ने टैक्सपेयर्स के राज्यों के आधार पर डिटेल जारी की है। इनमें कई चौंकाने वाले आंकड़ें सामने आए हैं कि जीएसटी में कुल रजिस्ट्रेशन में से नए टैक्सपेयर्स 50 फीसदी से ज्यादा है। नए रजिस्ट्रेशन में महाराष्ट्र और यूपी आगे रहे। आंकड़ों के मुताबिक 36 लाख से ज्यादा टैक्सपेयर्स जीएसटी के दायरे में आए।

 

36 लाख पहली बार टैक्स के दायरे में..

 

जनवरी तक करीब 64 लाख लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया है, जिसमें 36 लाख नए टैक्सपेयर्स हैं। नए टैक्सपेयर्स में महाराष्ट्र, गुजरात और उत्तर प्रदेश सबसे आगे रहे हैं। महाराष्ट्र में 5,00,682 नए रजिस्ट्रेशन हुए हैं। इसके बाद नए रजिस्ट्रेशन में यूपी रहा जहां नए 4,90,442 जीएसटी टैक्सपेयर्स ने रजिस्ट्रेशन कराया है। वहीं तीसरे नंबर पर गुजरात रहा जहां 3,44,227 नए टैक्स पेयर्स ने रजिस्ट्रेशन कराया है। इसके बाद नए रजिस्ट्रेशन में पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, दिल्ली, राज्यस्थान का नंबर आता है।

 

दिसंबर तिमाही में 7.2% रही भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट, चीन को पीछे छोड़ा

 

नए प्रोडक्ट पर लगाया टैक्स

 

सरकार ने जीएसटी लागू करने के साथ कई नए ट्रेड पर टैक्स लगाया है जिसके कारण टैक्स बेस बढ़ा है। टैक्स एक्सपर्ट एम के गांधी ने moneybhaskar.com बताया कि कपड़ा जैसे कई प्रोडक्ट को सरकार टैक्स नेट में लेकर आई है जिसके कारण टैक्स बेस बढ़ा है।सरकार ने 20 लाख रुपए से कम टर्नओवर वाले कारोबारियों को जीएसटी से बाहर रखा है लेकिन जीएसटी रिफंड लेने के लिए और बड़े कारोबारियों से कारोबार बनाए रखने के लिेए वह भी रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं। इसके कारण नए टैक्सपेयर्स की संख्या तेजी से बढ़ी है।

 

आधे से ज्यादा बढ़े नए जीएसटी टैक्सपेयर्स

 

देश में अब कुल83,83,801 जीएसटी टैक्सपेयर्स हैं। इसमें से पुराने टैक्स स्ट्रक्चर से जीएसटी में करीब 63,96,948 करोड़ टैक्सपेयर्स हैं। इसमें नए टैक्सपेयर्स की संख्या करीब36,74,192 करोड़ हैं। गांधी ने कहा कि पुराने टैक्सपेयर्स की तुलना में पहली बार टैक्स नेट में आने वाले कारोबारियों की उम्मीद से ज्यादा रही है। ऐसा इकोनॉमिक सर्वे में सरकार ने भी माना था कि नए टैक्स पेयर्स उनकी उम्मीद से ज्यादा रहे हैं।

 

जीएसटी में है 1.03 करोड़ टैक्सपेयर्स

 

25 फरवरी 2018 तक 1.03 करोड़ टैक्सपेयर्स ने जीएसटी में रजिस्ट्रेशन कराया है। करीब 17.65 लाख कारोबारियों ने कंपोजिशन डीलर में रजिस्ट्रेशन कराया है। करीब 1.23 लाख कारोबारी जिन्होंने कंपोजिशन स्कीम में रजिस्ट्रेशन कराया था वह इससे बाहर निकल गए और रेगुलर टैक्सपेयर्स बन गए हैं। यानी 25 फरवरी 2018 तक 16.42 लाख कारोबारियों ने कंम्पोजिशन स्कीम का चुनाव किया है। इन्हें क्वार्टरली रिटर्न भरनी होगी बाकी 87.03 लाख टैक्सपेयर्स मासिक रिटर्न फाइल करेंगे।

 

आगे पढ़ें - कौन रहा टैक्स भरने में आगे..

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

टैक्स भरने में पंजाब रहा आगे

 

सरकार ने जीएसटी आंकडो़ं के साथ राज्यों के टैक्सपेयर्स का डेटा भी जारी किया है। राज्यों में टैक्स जमा कराने वालों में पंजाब, चंडीगढ, महाराष्ट्र, गुजरात के कारोबारी आगे रहे। यहां 70 फीसदी से अधिक टैक्सपेयर्स ने जीएसटी जमा कराया है। वहीं टैक्सपेयर्स की संख्या के मामले में महाराष्ट्र सबसे आगे हैं। यहां करीब 11 लाख से अधिक जीएसटी टैक्सपेयर्स हैं।

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट