Home » Economy » GSTWorking to rationalise GST rates says MoS Finance Shiv Pratap Shukla

GST रेट में फिर हो सकती है बड़ी कटौती, सेवाएं और सामान होंगे सस्‍ते

जीएसटी काउंसिल जीएसटी दरों को तर्कसंगत बनाने की दिशा में काम कर रही है।

Working to rationalise GST rates says MoS Finance Shiv Pratap Shukla

नई दिल्‍ली. गुड्स एंड सर्विसेज (जीएसटी) टैक्‍स पर आने वाले दिनों में एक और राहत मिल सकती है। उम्‍मीद है कि कई सामान या वस्‍तुओं पर टैक्‍स रेट कम हो सकते हैं। सरकार की तरफ से इस बात के संकेत मिले हैं।

 

वित्‍त राज्‍य मंत्री शिव प्रताप शुक्‍ला ने बताया है कि जीएसटी काउंसिल जीएसटी दरों को तर्कसंगत बनाने की दिशा में काम कर रही है। तर्कसंगत बनाने से आम तौर पर यह मतलब होता है कि जीएसटी पर कंज्‍यूमर और ट्रेडर्स को राहत मिल सकती है। माना जा रहा है कि जीएसटी के तहत कई वस्‍तुओं और सेवाओं के टैक्‍स स्‍लैब में बदलाव किए जा सकते हैं। 

 

कन्‍फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्‍ट्री (सीआईआई) के ओर से आयोजित एक समिट में वित्‍त राज्‍य मंत्री ने कहा कि सरकार की तरफ से जीएसटी के संबंध में एक बड़ा ऐलान होने वाला है। उन्‍होंने कहा कि जीएसटी काउंसिल जीएसटी रेट को सही स्‍तर पर लाने की दिशा में काम कर रही है। सरकार की तरफ से इसका एलान जल्‍द होने वाला है। 

 

 

अभी हैं 4 टैक्‍स स्‍लैब 
जीएसटी के अंतर्गत अभी चार टैक्‍स स्‍लैब हैं। ये स्‍लैब 5 फीसदी, 12 फीसदी, 18 फीसदी और 28 फीसदी हैं। यानी, कंज्‍यूमर या ट्रेडर को सामान या सेवा के बदले इन चार दरों के दायरे में टैक्‍स चुकाना पड़ता है। 

 

 

जनवरी में घटे थे 54 सेवाओं के टैक्स रेट 
इस साल जनवरी में हुई जीएसटी काउंसिल की मीटिंग में 54 सेवाओं और 29 सामानों पर टैक्‍स रेट कम करने का फैसला किया गया था। नवंबर 2017 की मीटिंग में जीएसटी काउंसिल ने 178 सामानों को सर्वाधिक टैक्‍स स्‍लैब 28 फीसदी की कैटेगरी से बाहर कर दिया था। 
 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट