बिज़नेस न्यूज़ » Economy » GSTएक्‍सपोर्टर्स के लिए रिफंड पखवाड़ा : जीएसटी रिफंड में न करें ये गलतियां

एक्‍सपोर्टर्स के लिए रिफंड पखवाड़ा : जीएसटी रिफंड में न करें ये गलतियां

सरकार ने एक बार फिर एक्सपोर्टर्स के लिए 16 जून तक रिफंड पखवाड़ा चला रही है।

1 of

नई दिल्ली. सरकार ने एक बार फिर एक्सपोर्टर्स के लिए 16 जून तक रिफंड पखवाड़ा चला रही है। सरकार ने इसे लेकर एडवाइजरी भी जारी की है कि एक्सपोटर्स रिफंड को लेकर यह गलतियां न करें। अगर एक्सपोर्टर्स ने शिपिंग बिल या कस्टम डिपार्टमेंट के साथ रिकॉर्ड्स की गलतियां की है तो उन्हें तुरंत आईसीईजीएटीई (ICEGATE) की वेबसाइट पर जाकर चेक करें और ठीक करें।

 

चेक करें अपना रिफंड

 

आईजीएसटी रिफंड के लिए आईसीईजीएटीई (ICEGATE) की वेबसाइट पर रिफंड का स्टेटस चेक कर सकते हैं कि आपका रिफंड क्लेम का प्रोसेस कहां तक पहुंचा है या अटका हुआ है। अगर किसी गलती से कहीं अटका हुआ है तो उस कस्टम डिपार्टमेंट में गलती को सुधारने कि लिए जाएं ताकि रिफंड प्रोसेस जल्दी हो सके।

 

10 लाख तक के रिफंड मामलों को सुलझाया जाएगा जल्द

 

सरकार के जारी सर्कूलर के मुताबिक 10 लाख रुपए से कम आईजीएसटी रिफंड वाले मामले में जहां जीएसटीएन ने कस्टम ईडीआई सिस्टम को रिकॉर्ड नहीं भेजे हैं, वहां जीएसटी रिफंड को जल्द कराने के लिए प्रोसेस को आसान कर दिया है। एक्सपोर्टर्स को सेल्फ सर्टिफिकेशन के जरिए रिफंड मिल सकता है।

 

यहां जाने शिपिंग बिल

 

www.ICEGATE.gov.in की वेबसाइट पर जाकर लॉग इन करे। अगर अभी तक रजिस्टर नहीं किया है तो वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराएं। ताकि आपको शिपिंग बिल का स्टेटस पता चल सके।

 

 

इन्पुट टैक्स क्रेडिट रिफंड और अन्य रिफंड

 

जीएसटी आरएफडी-01A फॉर्म जीएसटी के कॉमन पोर्टल पर फाइल करें। इसका प्रिंटआउट लें और ज्युरिडिक्शनल टैक्स ऑफिसर के पास सपोर्टिंग डॉक्युमेंट के साथ सबमिट करें। रिफंड क्लेम एक ही टैक्स अथॉरिटी के पास जमा कराना है। सेंटर और स्टेट के जीएसटी रिफंड के लिए अलग-अलग रिफंड क्लेम नहीं फाइल करने हैं।

 

डॉक्युमेंट सबमिट करना जरूरी

 

जीएसटी आरएफडी-01A फॉर्म जीएसटी के कॉमन पोर्टल पर फाइल करने से रिफंड नहीं मिलेगा। आपके रिफंड क्लेम प्रोसेस पर तब तक काम नहीं होगा जब तक इसका प्रिंटआउट ज्युरिडिक्शनल टैक्स ऑफिसर के पास सपोर्टिंग डॉक्युमेंट के साथ सबमिट नहीं करेंगे।

 

30 अप्रैल तक के क्लेम को मिलेगा रिफंड

 

रिफंड फोर्टनाइट में उन्हीं एक्सपोर्टर्स को रिफंड मिलेगा जिन्होंने 30 अप्रैल 2018 तक अप्लाई कर दिया है।

 

आगे पढ़े - कितना रिफंड है पेंडिंग

 

 

20 हजार करोड़ रुपए का है रिफंड

 

सरकार के पास एक्‍सपोर्टर्स का 20,000 करोड़ रुपए का जीएसटी रि‍फंड अटका हुआ है। इसकी वापसी के लि‍ए सरकार ने 31 मई से 16 जून तक फास्‍ट ट्रैक पखवाड़े की दुसरी बार शुरुआत करेगी। इस दौरान केंद्र और राज्य के जीएसटी अधिकारी एक्‍सपोर्टर्स के फंसे हुए रि‍फंड को लौटाने का काम करेंगे। इसमें 30 अप्रैल या उससे पहले के सभी रिफंड आवेदनों को इस पखवाड़े में नि‍पटाने का काम कि‍या जाएगा।

 

 

मार्च में चलाया था फर्स्‍ट फेज

 

इससे पहले सरकार की ओर से जीएसटी रि‍फंड को लौटाने के लि‍ए फास्‍ट ट्रैक पखवाड़े का आयोजन 15 मार्च से 30 मार्च तक कि‍या गया था। इस दौरान एक्‍सपोर्टर्स के करीब 17,616 करोड़ रुपए के जीएसटी रि‍फंड को क्‍लि‍यर कि‍या गया था।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट