Home » Economy » GSTComposition scheme dealers dont need to give purchase details

GSTR-4 फाइलिंग हुई आसान, कम्पोजिशन स्कीम लेने वालों को नहीं देनी होगी परचेज डिटेल्स

1.50 करोड़ रुपए तक टर्नओवर वाले कारोबारियों को क्वार्टरली रिटर्न GSTR-4 में देनी होती है परचेज डिटेल..

Composition scheme dealers dont need to give purchase details

 

नई दिल्ली. कम्पोजिशन स्कीम लेने वाले कारोबारियों को जीएसटी रिटर्न में परचेज डिटेल्स की जानकारी देने की जरूरत नहीं है। बुधवार को फाइनेंस मिनिस्ट्री ने साफ कर दिया कि जीएसटी में 1.50 करोड़ रुपए तक टर्नओवर वाले कारोबारी जिन्होंने कम्पोजिशन स्कीम ली है, उन्हें क्वार्टरली रिटर्न फाइल करते समय वेंडर्स से की गई परचेज की जानकारी देने की जरूरत नहीं है।

 

 

नहीं देनी होगी परचेज डिटेल

मिनिस्ट्री के मुताबिक क्वार्टरली रिटर्न जीएसटीआर-4 फाइल करने वाले कंपोजिशन डीलर्स को परचेज डिटेल्स को लेकर उलझन में है। छोटे कारोबारियों को इन्वर्ड सप्लाई और रजिस्टर्ड सप्लायर के साथ की गई खरीददारी की फाइलिंग को लेकर परेशान है। उन्हें अब जीएसटीआर-4 की रिटर्न में सीरियल नंबर 4A की टेबल-4 में डिटेल देने की जरूरत नहीं है।

 

18 लाख कारोबारियों ने ली है कंपोजिशन स्कीम

जीएसटी में करीब 18 लाख कारोबारियों ने कंपोजिशन स्कीम में रजिस्ट्रेशन कराया है। कंपोजिशन स्कीम के तहत टैक्स रेट कम है। इस स्कीम को लेने वाले कारोबारियों को सिर्फ फिक्स्ड टैक्स रेट के हिसाब से टैक्स चुकाना होता है। ये टैक्स रेट 1 से 5 फीसदी के बीच है। ये स्कीम 20 लाख रुपए से अधिक और 1.50 करोड़ रुपए तक के सालाना टर्नओवर वाले कारोबारियों के लिए ही थी। ये स्कीम रिटेलर, होलसेलर, कारोबारी, रेस्त्रां मालिक सभी के लिए थी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट