बिज़नेस न्यूज़ » Economy » GSTट्रांजिशनल क्रेडिट फॉर्म 30 अप्रैल तक करें फाइल, सरकार ने बढ़ाई तारीख

ट्रांजिशनल क्रेडिट फॉर्म 30 अप्रैल तक करें फाइल, सरकार ने बढ़ाई तारीख

टेक्निकल दिक्कतों के कारण टैक्सपेयर्स ट्रांजिशनल क्रेडिट फॉर्म फाइल नहीं कर पाए थे वह अब 30 अप्रैल तक फाइल कर सकते हैं।

1 of

नई दिल्ली। जीएसटी पोर्टल पर टेक्निकल दिक्कतों के कारण जो टैक्सपेयर्स ट्रांजिशनल क्रेडिट फॉर्म फाइल नहीं कर पाए थे वह अब 30 अप्रैल तक फाइल कर पाएंगे। फाइनेंस मिनिस्ट्री ने फाइल करने की तारीख आगे बढ़ा दी है। हालांकि इसमें टैक्सपेयर्स को ट्रांजिशनल क्रेडिट का अमाउंट बदलने की इजाजत नहीं मिलेगी।

 

सरकार ने जारी किया सर्कूलर

 

ज्यादातर कारोबारी टेक्निकल दिक्कतों के कारण ट्रान 1 फाइल कर पाए थे क्योंकि वह डिजीटली साइन नहीं कर पाए थे। जीएसटीएन ने ऐसे टैक्सपेयर्स की लिस्ट इलेक्ट्रॉनिक ऑडिट के दौरान निकाली। सर्कूलर के मुताबिक ऐसे टैक्सपेयर्स जो 27 दिसंबर 2017 को ट्रान-1 आईटी दिक्कतों के कारण नहीं भर पाए वह दोबारा पोर्टल पर फाइल कर सकते हैं। जहां इंटरनेट की समस्या है वहां टैक्सपेयर्स लोकल टैक्स एजेंसी के पास जा सकते हैं। नोडल ऑफिसर ऐसी एप्लिक्लेशन को कलेक्ट करके जीएसटीएन को फॉरवर्ड करेगी। जीएसटीएन इन एप्लिकेशन रिकॉर्ड को वैरिफाई करेगी और फिर सॉल्युशन के आगे भेजेगी।

 

इससे पहले 27 दिसंबर थी डेडलाइन

 

सरकार ने टैक्सपेयर्स को ट्रान -1 फॉर्म भरने का मौका 27 दिसंबर 2017 तक दिया था। तब जिन भी कारोबारियों ने ज्यादा क्लेम का गलती से भर दिया या जिनका क्लेम रिकॉर्ड से मैच नहीं कर रहा था, उन्हें रिकॉर्ड ठीक करने के लिए मौका दिया था।

 

आए कई गलत क्लेम

 

 

टैक्सपेयर्य ने सीजीएसटी के तहत गलत ट्रांजिशनल क्रेडिट रिफंड भरे थे। कई कारोबारियों ने रिफंड ज्यादा भरा है और उनका क्लेम फॉर्म से मैच नहीं कर रहा था उनकी जांच की गई। कई ऐसे मामले सामने आएं हैं जहां ज्यादा क्लेम भरा गया था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट