विज्ञापन
Home » Economy » GST3 officials arrested with CFO of Precious Beverageis, action in GST invoice fraud case

टैक्स चोरी / मनपसंद बेवेरेजिस के CFO सहित 3 अधिकारी गिरफ्तार, GST इनवॉयस फ्रॉड केस में एक्शन

टैक्स चोरी के लिए देश भर में खोलीं कंपनी की 30 फर्जी यूनिट्स

3 officials arrested with CFO of Precious Beverageis, action in GST invoice fraud case
  •  मनपसंद बेवरेजिस के प्रबंध निदेशक अभिषेक सिंह, उनके भाई हर्षवर्धन सिंह और चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर परेश ठक्कर को सेंट्रल जीएसटी (CGST) और कस्टम, वडोदरा-2 द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है

 

वडोदरा. वस्तु एवं सेवा कर (GST) विभाग ने फर्जी कंपनियां बनाने और टैक्स चोरी को अंजाम देने पर वडोदरा की मनपसंद बेवेरेजिस (Manpasand Beverages) के सीएफओ सहित तीन शीर्ष अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया है। सीजीएसटी की एक प्रेस रिलीज के मुताबिक, मनपसंद बेवरेजिस के प्रबंध निदेशक अभिषेक सिंह, उनके भाई हर्षवर्धन सिंह और चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर परेश ठक्कर को सेंट्रल जीएसटी (CGST) और कस्टम, वडोदरा-2 द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है।

23 मई को हुई थी छापेमारी

सीएनबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी ने एक बयान में कहा कि इस मामले में 23 मई को मनपसंद बेवरेजिस के कई परिसरों पर तलाशी अभियान चलाया गया था। रिलीज में कहा गया, ‘छापे में धोखाधड़ी से क्रेडिट लेने के लिए कई फर्जी/डमी यूनिट तैयार करने का एक बड़ा रैकेट सामने आया। इसमें 300 करोड़ रुपए के टर्नओवर से जुड़ी 40 करोड़ रुपए की टैक्स चोरी का भी खुलासा हुआ।’

30 फर्जी यूनिट्स का हुआ खुलासा

बयान के मुताबिक, ‘जांच में देश के कई हिस्सों में कंपनी की 30 से ज्यादा फर्जी यूनिट्स के नेटवर्क का भी खुलासा हुआ, जिन्हें अवैध तरीके से क्रेडिट लेने के लिए इस्तेमाल किया जाता था। इस धोखाधड़ी के लाभार्थियों की खोज और शेल कंपनियों के नेटवर्क की जांच अभी चल रही है।’

रिजल्ट पेश करने में भी नाकाम रही थी कंपनी

बीते साल मई में कंपनी ने अचानक अपने स्टैच्युरी ऑडिटर्स डेलॉयट हैस्किंस एंड सेल्स के इस्तीफे का ऐलान किया था। इसकी वजह कंपनी द्वारा 31 मार्च, 2018 के अंत में समाप्त वर्ष का फाइनेंशियल रिजल्ट पेश करने में नाकामी रही थी। 
कंपनी के बोर्ड, मनपसंद बेवरेजिस के प्रबंध निदेशक धीरेंद्र सिंह को संबोधित लेटर में डेलॉयट हैस्किंस एंड सेल्स ने कहा कि ‘फाइनेंशियल रिजल्ट के उद्देश्य से हमारे द्वारा विभिन्न बिंदुओं पर मांगी गई जानकारी उपलब्ध कराने में कंपनी नाकाम रही थी।’

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss