Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

    Home »Economy »Foreign Trade» Demonetisation Impacted The Inbound Gold Shipments In India

    नोटबंदी से घटी डिमांड, गोल्‍ड इम्‍पोर्ट 32 फीसदी घटकर 17.7 अरब डॉलर पर आया

    नई दिल्‍ली. गोल्‍ड इम्‍पोर्ट चालू फाइनेंशियल ईयर 2016-17 में अप्रैल-दिसंबर के दौरान 32 फीसदी घटकर 17.7 अरब डॉलर पर आ गया। 2015-16 में अप्रैल-दिसंबर के दौरान 26.4 अरब डॉलर का गोल्‍ड इम्‍पोर्ट हुआ था।  इससे करंट अकाउंट डेफिसिट (सीएडी) कम होने की उम्‍मीद है। 
     
    इंडस्‍ट्री एक्‍सपर्ट्स के अनुसार, ग्‍लोबल और घरेलू मार्केट में सोने की कीमतों में नरमी के चलते इम्‍पोर्ट कम हुआ है। वहीं, नोटबंदी के बाद सिस्‍टम में नकदी की कमी का असर भी इम्‍पोर्ट पर पड़ा है। कॉमर्स मिनिस्‍ट्री के आंकड़ों के अनुसार, दिसंबर में गोल्‍ड इम्‍पोर्ट 48.49 फीसदी घटकर 1.96 अरब डॉलर पर आ गया।
     
    कम हुआ ट्रेड डेफिसिट
    गोल्‍ड इम्‍पोर्ट कम होने से अप्रैल-दिसंबर में ट्रेड डेफिसिट घटकर करीब 76.54 अरब डॉलर रह गया जो पिछले साल इसी अवधि में 100 अरब डॉलर था। भारत दुनिया में गोल्‍ड का एक सबसे बड़ा इम्‍पोर्टर है। भारत में गोल्‍ड की डिमांड ज्‍यादातर ज्‍वैलरी से आती है।
     
    सीएडी 1.1 फीसदी रहा
    2015-16 में सीएडी 22.1 अरब डॉलर यानी जीडीपी का 1.1 फीसदी रहा। 2014-15 में जीडीपी का 1.3 फीसदी यानी 26.8 अरब डॉलर था। चालू वित्‍त वर्ष में अप्रैल-जुलाई के दौरान देश का कुल गोल्‍ड इम्‍पोर्ट घटकर 60 टर रहा गया जो एक साल पहले इसी अवधि में 250 टन था। 2015-16 में भारत ने 650 टन गोल्‍ड इम्‍पोर्ट किया था। 

    Recommendation

      Don't Miss

      NEXT STORY