Home »Economy »Foreign Trade» Gems & Jewellary Export May Achieve Its 41 Billion Target

जेम्स-ज्वैलरी एक्सपोर्ट को US, चीन और मिडिल ईस्ट से मिला बूस्ट, 41 अरब डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद

नई दिल्ली. अमेरिका, मिडिल ईस्ट और चीन में डिमांड बढ़ने से भारत से जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट अपने रिकॉर्ड लेवल को छू सकता है। इंडस्ट्री के मुताबिक फाइनेंशियल ईयर 2016-17 के दौरान जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट 41 अरब डॉलर रह सकता है। जेम्स एंड ज्वैलरी एसोसिएशन ने कहा कि नए मार्केट तलाशने का फायदा सेक्टर को मिल रहा है।
 
पुराने पीक पर पहुंचने की तैयारी
 
पीएम मोदी ने जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट को साल 2022 तक 60 अरब डॉलर तक पहुंचाने का टारगेट रखा है। साल 2011-12 में जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट 43.21 अरब डॉलर था और साल 2015-16 में जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट 31.98 अरब डॉलर रहा। बीते चार के दौरान अमेरिका,यूरोप जैसे इंटरनेशनल मार्केट्स में स्लोडाउन के कारण जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट में गिरावट रही। हालांकि, अब जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल (जीजेईपीसी) ने जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट के लिए 41 अरब डॉलर का टारगेट रखा है।
 
टारगेट पूरा कर सकती है इंडस्ट्री
 
जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट अप्रैल से जनवरी 2016-17 के बीच 9.5 फीसदी की ग्रोथ के साथ 29 अरब डॉलर रहा। इंडस्ट्री का मानना है कि जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट रिकवर कर रहा है, क्योंकि अमेरिका और यूरोपियन इकोनॉमी बेहतर हुई है। जीजेईपीसी के चेयरमैन प्रवीण शंकर पंड्या के मुताबिक ज्वैलर्स ने हैंड क्राफ्टेड ज्वैलरी और वैल्यू ऐड करने पर फोकस किया है, ताकि एक्सपोर्ट टारगेट को पा सके।
 
ओवरसीज मार्केट में बढ़े ऑर्डरः इंडस्ट्री
 
गीतांजलि के एमडी मेहुल चोकसी ने moneybhaskar.com को बताया कि मिड साइज ज्वैलरी की डिमांड में तेजी आई है। अमेरिका, चीन और मिडिल ईस्ट से मिले ऑर्डर बीते साल की तुलना में 25-30 फीसदी ज्यादा हैं। राजेश एक्सपोर्ट के एमडी राजेश मेहता ने बताया कि पिछले साल की तुलना में ऑर्डर 20 से 25 फीसदी अधिक रहे हैं। दोनों कारोबारियों का मानना है कि जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट 2016-17 में 41 अरब डॉलर का टारगेट हासिल कर सकता है।
 
चीन, मिडिल ईस्ट और अमेरिका से मिले ऑर्डर
 
ब्रेक्सिट का असर जेम्स और ज्वैलरी  के क्रिसमस और नए साल के ऑर्डर पर नजर नहीं आया। चोकसी ने कहा कि चीन, अमेरिका और मिडिल ईस्ट से अच्छे ऑर्डर मिले थे और नए फाइनेंशियल ईयर के लिए भी ऑर्डर मिलना शुरू हो गए हैं।
 
नए मार्केट ने की मदद
 
जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्टर्स के मुताबिक रेगुलर मार्केट के अलावा दक्षिण अमेरिका के देशों और चीन ने एक्सपोर्टर्स  को ज्वैलरी के लिए नया बाजार दिया है। जीजेईपीसी के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर सब्यसाची रे ने बताया कि मिडिल ईस्ट, यूरोप और अमेरिक मार्केट में डिमांड रिवाइव हुई है। इसलिए जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट के पुराने पीक लेवल तक पहुंचने की उम्मीद काउंसिल कर रहा है।
 
अगली स्लाइड में जानें –जेम्स एंड ज्वैलरी के आंकड़े सुधारने में किसने की मदद
 
 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY