विज्ञापन
Home » Economy » Foreign TradeExports growth slides to 4 month low in Apr and trade gap at 5 month high

Trade Data / व्यापार घाटा 5 महीने के उच्चतम स्तर पर, निर्यात वृद्धि 4 महीने में सबसे कम

इंजीनियरिंग सामान, रत्न और आभूषण, चमड़ा और अन्य उत्पादों की शिपमेंट में कमी से लगा झटका

Exports growth slides to 4 month low in Apr and trade gap at 5 month high

भारत को व्यापार घाटे और निर्यात दोनों के मोर्चे पर झटका लगा है

वहीं व्यापार घाटा 6 महीने के ऊपरी स्तर पर पहुंच गया। क्रूड ऑयल और गोल्ड शिपमेंट में बढ़ोतरी के चलते आयात में 4.5 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई, जो बीते 6 महीने का उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। बुधवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों में ये बातें सामने आईं।  


नई दिल्ली. भारत को व्यापार घाटे और निर्यात दोनों के मोर्चे पर झटका लगा है। अप्रैल में इंजीनियरिंग सामान, रत्न और आभूषण, चमड़ा और अन्य उत्पादों की शिपमेंट में कमी के चलते निर्यात में बढ़ोतरी 4 महीने के निचले स्तर पर आ गई, जो 0.64 फीसदी रही। वहीं व्यापार घाटा 6 महीने के ऊपरी स्तर पर पहुंच गया। क्रूड ऑयल और गोल्ड शिपमेंट में बढ़ोतरी के चलते आयात में 4.5 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई, जो बीते 6 महीने का उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। बुधवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों में ये बातें सामने आईं।

व्यापार घाटा 5 महीने के ऊपरी स्तर पर

ट्रेड डाटा के आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल में 26 अरब डॉलर का निर्यात और 41.4 अरब डॉलर का आयात हुआ, जिससे व्यापार घाटा 15.33 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंच गया। यह ट्रेड डेफिसिट का नवंबर, 2018 का उच्चतम स्तर है।

इन वस्तुओं के निर्यात में कमी

अप्रैल में इंजीनियरिंग, रत्न एवं आभूषण, चमड़ा, कालीन, प्लास्टिक, समुद्री उत्पाद, चावल और कॉफी के निर्यात में कमी के चलते वाणिज्यिक वस्तुओं के निर्यात में कमी दर्ज की गई। इससे पहले निचला स्तर दिसंबर, 2018 में रहा था, जब ग्रोथ 0.34 फीसदी रही थी।

तेल का आयात 9.26 फीसदी बढ़ा

वहीं तेल का आयात 9.26 फीसदी की बढ़त के साथ 11.38 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंच गया और गैर तेल आयात में 2.78 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई। सोने का आयात 54 फीसदी की बढ़त के साथ 3.97 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंच गया। 
पेट्रोलियम, हैंडीक्राफ्ट्स, रेडीमेड गारमेंट और फार्मास्युटिकल्स सहित कई सेक्टर से निर्यात में बढ़त दर्ज की गई।

कृषि उत्पादों के निर्यात में अच्छा रुझान

ट्रेड डाटा पर ट्रेड प्रमोशन काउंसिल ऑफ इंडिया (टीपीसीआई) ने कहा कि अप्रैल के ग्रोथ के आंकड़े ‘बहुत प्रभावशाली नहीं’ रहे। टीपीसीआई के चेयरमैन मोहित सिंगला ने कहा, ‘हालांकि हमने सकारात्मक वृद्धि बरकरार रखी है। इसके अलावा चाय, मसालों, फलों और सब्जियों में अच्छा पैटर्न देखने को मिला है, जिससे कृषि उत्पादों के अच्छे निर्यात के संकेत मिले हैं।’
फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट ऑर्गनाइजेशंस (फियो) के प्रेसिडेंट गणेश कुमार गुप्ता ने कहा कि निर्यात के आंकड़े ज्यादा उत्साहजनक नहीं है, क्योंकि श्रमिकों पर केंद्रित सेक्टर्स में गिरावट का रुझान देखने को मिला है।
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन