बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesमेरा भी निजी डेटा चोरी हो चुका है, अमेरिकी सीनेट के सामने जुकरबर्ग ने स्‍वीकारा

मेरा भी निजी डेटा चोरी हो चुका है, अमेरिकी सीनेट के सामने जुकरबर्ग ने स्‍वीकारा

जुकरबर्ग ने अमेरि‍की संसद में कहा कि‍ फेसबुक का पेड वर्जन एड फ्री हो सकता है।

1 of

 

नई दि‍ल्‍ली. डाटा लीक मामले के बाद से फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग दुनियाभर के निशाने पर हैं। इसके चलते मंगलवार को जुकरबर्ग अमेरिकी सीनेट के सामने पेश हुए। उन्होंने डाटा लीक की जिम्मेदारी लेते हुए सीनेट से माफी मांगी और उन्‍हें बताया कि एक बार उनका निजी डाटा भी चोरी हुआ था। इसके अलावा उन्‍होंने अमेरि‍की संसद में कहा कि‍ वह फेसबुक का पेड वर्जन भी लाने के बारे में सोच रहे हैं, जि‍सपर कि‍सी तरह का वि‍ज्ञापन नहीं होगा। हालांकि‍ उन्‍होंने नए कानूनों का समर्थन और सोशल नेटवर्क के कारोबार को बदलने का कोई और वादा नहीं कि‍या है।

 
 
उन्‍होंने सीनेट के सामने कहा कि‍ वह यह सुनि‍श्‍चि‍त करने के लि‍ए अमेरिका और ब्रिटेन में सरकार के साथ काम कर रहे हैं कि कोई ऐप डेवलपर डाटा का दुरुपयोग तो नहीं कर रहा। दोषी पाए जाने वाले किसी भी व्यक्ति को हमारी पार्टनर लि‍स्‍ट से हटा दि‍या जाएगा। 
 
जुकरबर्ग ने सीनेट से कहीं ये प्रमुख बातें 
 
फेसबुक में एक पेड ऐड फ्री वर्जन शुरू कि‍या जा सकता है जो कि‍ फ्री वर्जन के साथ ही चलेगा। 
फेसबुक एक तटस्थ मंच है जो दुनि‍याभर में कि‍सी भी राजनीतिक दल का समर्थन नहीं करता है।
अलेक्जेंड कोगन नामक ऐप डेवलपर ने फेसबुक यूजर्स के डाटा को कई कंपनि‍यों को बेच दि‍या है। 
जुकरबर्ग ने स्वीकार किया कि फेसबुक पर हेट स्‍पीच के चलते जातीय और सांप्रदायिक हिंसा फैल रही है। 
जुकरबर्ग ने वादा कि‍या कि‍ वह सुनिश्चित करेंगे कि भारत और हंगरी में होने वाले चुनाव फेसबुक के दुरुपयोग से प्रभावित नहीं हों। 
 
हम फेसबुक का गलत इस्‍तेमाल होने से नहीं रोक पाए 
 
सीनेट में पेशी के दौरान मार्क जुुकरबर्ग ने कहा कि‍ हमारी यह जिम्मेदारी है कि टूल्स का इस्तेमाल अच्छे के लिए हो। यह स्पष्ट है कि हम फेसबुक के गलत काम के लि‍ए हुए इस्‍तेमाल को रोक नहीं पाए। फेक न्यूज, हेट स्पीच, चुनावों में विदेशी हस्तक्षेप, डाटा की निजता जैसे नुकसान को रोकने के लिए हमें जो कदम उठाने चाहि‍ए थे हमने नहीं उठाए। यह बड़ी गलती है और इसके लि‍ए मैं माफी मांगता हूं। मैंने फेसबुक शुरू किया, मैं इसे चलाता हूं और यहां जो कुछ भी होता है उसके लिए मैं ही जिम्मेदार भी हूं। 
 
भारत में होने वाले चुनावों में बरतेंगे ज्‍यादा सावधानी 
 
फेसबुक के 33 वर्षीय सीइओ जुकरबर्ग ने कहा कि‍ 2018 पूरे विश्व के लिए एक महत्वपूर्ण वर्ष है। भारत, पाकिस्तान जैसे कई देशों में चुनाव होने हैं। ऐसे में हम यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे कि ये चुनाव सुरक्षित होंं। उन्होंने कहा, 2016 में हुए अमेरिकी चुनावों के बाद हमारी प्राथमिकता दुनिया भर में हो रहे चुनावों में ईमानदारी बरतने की है। आगे पढ़ें : आखि‍र क्‍या है फेसबुक की गलती और क्‍यों जुकरबर्ग को मांगनी पड़ी 
क्‍या है मामला 
 
पॉलि‍टि‍कल एनलि‍स्‍ट फर्म कैम्ब्रिज एनालिटिका पर आरोप है कि‍ उसने फेसबुक के 8 करोड़ यूजर्स का डाटा चोरी कि‍या है। वहीं, कंपनी ने इसका प्रयोग अमेरि‍का के राष्‍ट्रपति‍ चुनाव को प्रभावि‍त करने में लगाया। बता दें कि‍, यह कंपनी डोनाल्ड ट्रम्प के राष्ट्रपति अभियान के दौरान उनके लि‍ए काम कर रही थी। वहीं, दूसरी ओर फेसबुक पर आरोप है कि‍ उसने जानबूझकर यह डाटा कैम्ब्रिज एनालिटिका को उपलब्‍ध कराया है। इसके बाद से हर फेसबुक यूजर के मन में डाटा सि‍क्‍योरि‍टी को लेकर आशंका बनी हुई है कि‍ उसका डाटा सेफ है या नहीं।  
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट