बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Foreign Tradeट्रम्‍प की धमकी से चीन और यूरोपीय देशों से ट्रेड वार का खतरा बढ़ा

ट्रम्‍प की धमकी से चीन और यूरोपीय देशों से ट्रेड वार का खतरा बढ़ा

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने यूरोपीय संघ (ईयू) को यूरोपीय कारों पर नया टैक्‍स लगाने की चेतावनी दी है।

Trump threatens to impose tax on European cars
 
नई दि‍ल्‍ली. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि अगर यूरोपीय संघ (ईयू) उसके स्‍टील और एल्यूमिनियम पर आयात शुल्क के प्रस्ताव के विरोधस्वरूप कदम उठाएगा तो वह यूरोपीय कारों पर नया टैक्‍स लगा देंगे। ट्रंप ने बीते गुरुवार को स्‍टील पर 25 फीसदी आयात शुल्‍क जबकि एल्यूमिनियम के आयात पर 10 फीसदी शुल्क लगाने का फैसला किया था। ट्रंप का कहना था कि उनके इस कदम से घरेलू स्तर पर इन उद्योगों को लाभ पहुंचेगा। 
 
फैसले से चीन और यूरोपि‍यन संघ हैं नाराज 
 
हालांकि, ट्रंप के इस फैसले की अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उनके व्यापारिक साझेदार आलोचना कर रहे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि‍ ट्रंप के इस फैसले से चीन और यूरोपि‍यन संघ के साथ व्यापार युद्ध शुरू हो सकता है। 
 
ट्रंप ने यह प्रति‍क्रि‍या यूरोपीय संघ के अधिकारियों के उस बयान के बाद दी है, जि‍समें कहा गया था कि‍ अमेरि‍का के स्‍टील और एल्‍युमीनि‍यम पर आयात शुल्‍क लगाने के बाद वे भी अमेरि‍का में बनीं हार्ले डेविडसन बाइक, बरबन व्हिस्की और लेवी जींस सहित अमेरिकी सामान पर नए कर लगाएंगे। इसके बाद ट्रंप ने बकायदा धमकी भरे लहजे में ट्वीट कि‍या कि‍ अगर ईयू वहां पर काम कर रही अमेरिकी कंपनियों पर कर बढ़ाएगा, जो कि‍ पहले से बहुत ज्‍यादा है तो हम अमेरिका में उनकी कारों पर टैक्‍स बढ़ा देंगे। 
 
ट्रम्प ने शनिवार को एक ट्वीट में कहा कि‍, यूरोपीय संघ, जि‍समें बहुत से सुंदर देश हैं वे अमेरि‍का के साथ व्यापार को लेकर बहुत बुरा व्यवहार करते हैं और आज यही देश स्टील और एल्यूमीनियम पर टैरिफ के बारे में शिकायत कर रहे हैं। ट्रम्प ने एक अन्‍य ट्वीट में कहा कि‍ "अगर ईयू अमेरिकी उत्‍पादों पर छूट देता है तो हम भी उनके उत्‍पादों पर टैक्‍स में छूट देंगे। वहीं, ऐसा नहीं करने की स्‍थि‍ति‍ में अमेरि‍का की ओर से यूरोपि‍यन देशों से आने वाली कारों पर टैक्‍स बढ़ाया जा सकता है।  
 
वहीं, इस दौरान अमेरि‍का पहुंचे स्‍वीडि‍श प्रधानमंत्री ने कहा कि‍ यूरोपि‍यन यूनि‍यन अमेरि‍का के साथ कुछ ज्‍यादा ही कठोर व्‍यवहार कर रही है। इसके अलावा उन्‍होंने कहा कि‍ ईयू और ट्रम्‍प के बीच इस सब के चलते अमेरि‍का के साथ व्‍यापार करना मुश्‍कि‍ल हो जाएगा। इसके बावजूद वे अपनी कारें और अन्‍य सामान अमेरि‍का भेज रहे हैं।  
 
वहीं, ट्रम्‍प का कहना है कि‍ वे जो चाहे कर सकते हैं। लेकि‍न अगर उन्‍होंने ऐसा कि‍या तो हम उनकी कारों पर 25 फीसदी टैक्‍स लगा देंगे। और आप वि‍श्‍वास कीजि‍ए कि‍ वे बहुत लंबे समय तक ऐसा नहीं कर पाएंगे। अमेरि‍की राष्‍ट्रपति‍ ने आगे कहा कि‍ ईयू अमेरि‍का के साथ अच्‍छा व्‍यवहार नहीं कर रहा है। ऐसे में यह व्‍यापार के लि‍ए खराब माहौल है। लेकि‍न मैं आपको बता दूं कि‍ मुझे इसीलि‍ए चुना गया है। ताकि‍ मैं अपने देश की कंपनि‍यों और अपने कर्मचारि‍यों के हि‍तों की रक्षा कर सकूं। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट