Home » Economy » Foreign Tradeमोदी ने दुनि‍या को दि‍या 6R फॉर्मूला, Modi gave 6R formula to the world

मोदी ने दुनि‍या को दि‍या 6R फॉर्मूला, कहा ऐसे होगी इंक्‍लूसि‍व ग्राेथ

मोदी ने यहां विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अबू धाबी के पहले हिंदू मंदिर का शिलान्यास किया।

1 of

नई दि‍ल्‍ली. यूएई की यात्रा के दौरान मोदी रवि‍‍‍‍वार को वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट में पहुंचे। यहांं उन्‍होंने एक बार फिर एक नए मंत्र से दुनिया को परिचित कराया। समिट में पीएम मोदी को मुख्‍य अति‍थि‍ के तौर पर बुलाया गया था। इस दौरान पीएम मोदी ने 6R का मंत्र देते हुए कहा कि 'वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट में मुझे मुख्य अतिथि के तौर पर बुलाया जाना न सिर्फ मेरे लिए बल्कि 125 करोड़ भारतीयों के लिए भी गर्व की बात है।' पीएम ने कहा कि यूएई में 33 लाख भारतीयों को अपनापन मिला है, इसके लिए भारत आपका कृतज्ञ है। समि‍‍‍‍ट की शुरुआत भारतनाट्यम के साथ हुुुुई। वहीं

 

अपने अंदाज में बताई वि‍कास की अवधारणा

पीएम मोदी ने समि‍ट में इस बार 6R का मंत्र दिया है। पीएम मोदी ने सतत विकास की अवधारणा के संदर्भ में बोलते हुए कहा कि आज के समय में इस रास्ते पर छह महत्त्वपूर्ण कदम हैं। पीएम मोदी ने छह R यानी रिड्यूस, रीयूज, रीसाइकल, रिकवर, रीडिजाइन और रीमैन्युफैक्चर की बात की। पीएम ने कहा कि इन छह कदमों से हम जिस मंजिल पर पहुंचेंगे, वह रिजॉइस यानी आनंद की होगी।

 

दुबई को बताया वि‍कास का उदाहरण

प्रधानमंत्री मोदी ने दुबई को दुनिया के लिए एक उदाहरण बताते हुए कहा कि प्रौद्योगिकी ने एक रेगिस्तान को बदल दिया, यह चमत्कार है। पीएम ने कहा कि विकास के लिए तकनीक के इस्तेमाल में दुबई अपने आप में बेमिसाल है। आज दुबई आगे बढ़ रहा है तो उसके पीछे संकल्प है। यूएई ने सफल प्रयोगों को लैब तक सीमित नहीं रहने दिया गया।'  

 

तकनीक का इस्‍तेमाल विकास के लि‍ए हो, विनाश के लि‍ए नहीं

हालांकि पीएम मोदी ने तकनीक के अंधाधुंध इस्तेमाल से खड़े हो रहे संकटों की ओर भी इशारा किया। मिसाइल और बमों के निर्माण में वैश्विक रूप से बढ़ते इन्वेस्टमेंट पर चिंता जताते हुए पीएम मोदी ने तकनीक के दुरुपयोग के प्रति चेताते हुए कहा कि इसका इस्तेमाल विकास के लिए होना चाहिए, विनाश के लिए नहीं।

 

हिंदू मंदिर का शिलान्यास कि‍या

इससे पहले पीएम मोदी ने अपनी यूएई यात्रा के दौरान रविवार को विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अबू धाबी के पहले हिंदू मंदिर का शिलान्यास किया। 55000 वर्ग मीटर भूमि में बनने वाला यह मंदिर पश्चिम एशिया में पत्थरों से बना पहला हिंदू मंदिर होगा। जिसे बोचासनवासी श्री अक्षर पुरुषोत्तम स्वामीनारायण संस्था (बीएपीएस) संस्था द्वारा बनाया जाएगा और यह मंदिर का निर्माण 2020 तक पूरा होगा। अबू धाबी में यह पहला हिंदू मंदिर है जो अबूधाबी के युवराज द्वारा दी गई जमीन पर बनाया जा रहा है। ऐसे में यह यूएई की सहिष्णुता और सद्भाव की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। वहीं, बीएपीएस के प्रवक्‍ता ने कहा कि यह मंदिर भारतीय कारीगरों द्वारा हाथ से तैयार किया जाएगा और इसे संयुक्त अरब अमीरात में एसेम्बल किया जाएगा।

 

'ईज ऑफ डूइंग में और बेहतर करेगा भारत'

2014 में ईज ऑफ डूइंग बिजनस में हम 142वें नंबर पर थे, सूची में पीछे से ढूंढने पर हमारा नाम आसानी से मिल जाता था। लेकिन इतने कम समय में हम 42 अंक आगे जाकर 100वें नंबर पर पहुंच गए हैं, हम यहां भी नहीं रुकेंगे, हमें अभी और आगे जाना है। इसके लिए जो भी जरूरी होगा, वह करेंगे। पीएम ने कहा कि हमारा उद्देश्य भारत को ग्लोबल बेंचमार्क के स्तर तक लाना है।  

 

21वीं सदी एशिया की सदी होगी

पीएम ने कहा कि 21वीं सदी को एशिया की सदी बनाने के लिए मेहनत करनी पड़ेगी, तात्कालिक लाभ हो या न हो, लेकिन कोशिश करनी पड़ेगी। कुछ काम ऐसे होते हैं जिनका तात्कालिक लाभ नहीं होता, लेकिन लोगों की भलाई के लिए वे करने पड़ते हैं। पीएम ने नोटबंदी का जिक्र करते हुए कहा, 'नोटबंदी करता हूं तो देश के गरीब तबके को समझ आता है कि सही दिशा का मजबूत कदम है, लेकिन कुछ लोगों की रात की नींद अब तक उड़ी हुई है।' पीएम ने कहा कि कई साल से अटके हुए जीएसटी को हमने बेहद कम समय में पास कराया है। इसकी वजह से कुछ परेशानी हो रही है, लेकिन जब व्यवस्था में बड़ा बदलाव किया जाता है तो थोड़ी परेशानी होती है। इस मौके पर भी लोगों को बखूबी समझ आ रहा है कि यह कदम देश के लिए बेहद महत्वपूर्ण होने वाला है।

 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट