बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Foreign Tradeधमकी देने के अगले दिन ही पलटा ईरान, कहा- भारत को तेल सप्‍लाई बनाए रखने की हरसंभव कोशि‍श करेगा

धमकी देने के अगले दिन ही पलटा ईरान, कहा- भारत को तेल सप्‍लाई बनाए रखने की हरसंभव कोशि‍श करेगा

ईरान ने जोर देते हुए कहा कि‍ वह भारत का भरोसेमंद एनर्जी पार्टनर है।

Iran on Back Foot, Says Will Do Our Best to Ensure Oil Supply to India

नई दि‍ल्‍ली। ईरान ने कहा है कि‍ वह भारत को तेल सप्‍लाई बनाए रखने के लि‍ए हरसंभव कोशि‍श करेगा। ईरान ने जोर देते हुए कहा कि‍ वह भारत का भरोसेमंद एनर्जी पार्टनर है। इससे एक दि‍न पहले ही ईरान के उप राजदूत मसूद रिजवानियन रहागी ने कहा था कि अमेरिकी प्रतिबंध के बाद यदि भारत ने ईरान से तेल आयात में कटौती की तो भारत अपने 'विशेष लाभ' खो देगा। इस बयान के बाद ही ईरान के दूतावास की ओर से यह स्‍पष्‍टीकरण आया है।  

 

भारत की परेशानि‍यां समझते हैं

 

ईरान के दूतावास ने जारी बयान में कहा कि हम अस्‍थि‍र एनर्जी मार्केट से नि‍पटने में भारत को हो रही परेशानि‍यों को समझतें हैं। और यह भी कि‍ भारत को वि‍भि‍न्‍न कारणों जैसे जि‍योपॉलि‍टि‍कल को ध्‍यान में रखते हुए और तेल आपूर्ति‍कर्ताओं की वि‍श्‍वनीयता को देखते हुए एनर्जी पार्टनर चुनना है। दूतावास ने कहा है कि‍ ईरान द्विपक्षीय व्यापार को आगे बढ़ाने वाले वि‍भि‍न्‍न उपायों के साथ भारत की तेल सप्‍लाई को सही ढंग से बनाए रखने की हरसंभव कोशि‍श करेगा।   

 

ईरान ने कहा- हम भारत के भरोसेमंद पार्टनर

 

दूतावास ने बयान में कहा कि‍ ईरान हमेशा से ही भारत और दूसरों का भरोसमंद एनर्जी पार्टनर रहा है, जो कि‍ संतुलित तेल बाजार और सही तेल की कीमतों से दोनों देशों की रुचि‍ सुनि‍श्‍चि‍त करता है, चाहे वह कंज्‍यूमर हो या सप्‍लायर। 

 

एक दि‍न पहले ही ईरान ने भारत को दी थी चेतावनी

 

मसूद रजवानियन रहागी ने बीते बुधवार को एक सेमीनार में कहा कि‍ अगर भारत दूसरे देशों जैसे सऊदी अरब, रूस, इराक और अमेरि‍का से तेल लेता है और यहां तेल में कटौती करता है तो वह हमारे द्वारा दि‍या जा रहा 'वि‍शेष लाभ' खो देगा। 

 

रहागी ने कहा कि‍ यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि चाबहार पोर्ट और उससे जुड़े प्रोजेक्‍ट्स के लिए किए गए इन्‍वेस्‍टमेंट के वादे अभी तक पूरे नहीं किए गए हैं। यदि चाबहार पोर्ट में उसका सहयोग और भागीदारी सामरिक रूप से महत्वपूर्ण है तो भारत को इस संबंध में तुरंत जरूरी कदम उठाने चाहिए।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट