Home » Economy » Foreign TradeBlast at project in Nepal weeks before inauguration by Modi

नेपाल में हाइड्रो इलेक्‍ट्रि‍सि‍टी प्रोजेक्‍ट पर बम धमाका, 11 मई को मोदी करने वाले थे शुभारंभ

नेपाल में भारत की मदद से बन रहे हाईड्रोइलेक्‍ट्रि‍सि‍टी प्रोजेक्‍ट में रवि‍वार को एक बम वि‍स्‍फोट हो गया।

1 of
 
नई दि‍ल्‍ली. नेपाल में भारत की मदद से बन रहे हाईड्रोइलेक्‍ट्रि‍सि‍टी प्रोजेक्‍ट में रवि‍वार को एक बम वि‍स्‍फोट हो गया। बता दें कि‍ 11 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका उद्घाटन करने के लि‍ए नेपाल जाने वाले हैंं। नेपाल के संखुवासभा जिले के मुख्य जिला अधिकारी शिवराज जोशी ने बताया कि विस्फोट से इस परियोजना के कार्यालय की चाहरदीवारी नष्ट हो गई है।

शिवराज जोशी ने बताया कि 900 मेगावाट क्षमता के अरुण -3 हाइड्रोइलेक्ट्रिक पावर प्लांट का कार्यालय काठमांडू से 500 किलोमीटर दूर खांडबरी -9 तुमलिंगटर में है। इस परियोजना के 2020 तक चालू होने की संभावना है। उन्‍होंने बताया कि‍ घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है और जांच के आदेश दे दिए गए हैं। वहीं, अभी तक कि‍सी ने ब्‍लास्‍ट की जि‍म्‍मेदारी नहीं ली है। बता दें कि‍,  अरुण -3 प्रॉजेक्ट के लिए प्रधानमंत्री मोदी और तब नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोइराला की मौजूदगी में 25 नवंबर 2014 को परियोजना विकास समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे। भारत की ओर से सार्वजनिक क्षेत्र के सतलुज जल विद्युत निगम ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। 
 
एक महीने में हुआ दूसरा हमला 
 
नेपाल में किसी भारतीय संपत्ति पर यह एक महीने में हुआ दूसरा हमला है। इससे पहले 17 अप्रैल को विराटनगर स्‍थि‍त भारतीय दूतावास के क्षेत्रीय कार्यालय के पास प्रेशर कुकर बम विस्फोट हुआ था। इसके चलते परिसर की दीवार क्षतिग्रस्त हो गई थी। 
 
1.5 अरब डॉलर होने है परि‍योजना पर खर्च
 
नेपाल फि‍लहाल बिजली की कमी का सामना कर रहा है। ऐसे में यह जल परि‍योजना से बनने वाला बि‍जली उत्‍पादन केंद्र नेपाल घरेलू डिमांड को पूरी करता। वहीं, इस परि‍योजना पर 1.5 अरब अमेरि‍की डॉलर खर्च होने की उम्‍मीद है। दूसरी ओर से इस परि‍योजना के पूरे होने से नेपाल में हजारों लोगों को नौकरि‍यां भी मि‍लतींं। 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट