बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Foreign Tradeपाक के इस फैसले से भारत के घर-घर पर पड़ सकता है असर, ये है मामला

पाक के इस फैसले से भारत के घर-घर पर पड़ सकता है असर, ये है मामला

पाकिस्‍तान बड़े पैमाने पर भारत में सब्सिडी वाली चीनी के निर्यात की तैयारी में है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. पाकिस्‍तान बड़े पैमाने पर भारत में सब्सिडी वाली चीनी के निर्यात की तैयारी में है। पाकिस्‍तान में इस चीनी सीजन में जरूरत से ज्‍यादा चीनी का उत्‍पादन हुआ है। इसे देखते हुए पाक सरकार ने 1.5 मिलियन टन  चीनी के निर्यात पर सब्सिडी देने की घोषणा की है। इसे देखते हुए सरकार ने कमर कस ली है और फूड मंत्रालय के अध्‍ािकारी ने कहा है कि अगर पाकिस्‍तान से सब्सिडी वाली चीनी आती है तो भारत इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ा सकता है। फिलहाल भारत में आयातित चीनी पर 50 फीसदी इंपोर्ट ड्यूटी लगती है।

 

देश में सरकार किसानों की आमदनी करना चाहती है दोगुनी

पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने देश के किसानों की आमदनी को दोगुना करने का लक्ष्‍य 2022 तक तय किया है। अगर चीन से सब्सिडी वाली चीनी आती है तो देश में चीनी के दाम पर असर पड़ सकता है। ऐसे में सरकार की पाकिस्‍तान की गतिविधियों पर नजर है। समाचार एजेंसी कोजेन्सिस से एक अधिकारी ने बताया है कि भारत की पूरे मामले को देख रहा है। इस अधिकारी के अनुसार फिलहाल ऐसा नहीं लगता है कि इस रेट पर पाक से चीनी आयात संभव है, लेकिन अगर ऐसा होता है तो हम इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाने पर विचार कर सकते हैं। एक अन्‍य अधिकारी के अनुसार लगता नहीं है कि पाकिस्‍तान से 50 फीसदी इंपोर्ट ड्यूटी के बाद चीनी का आयात पंजाब में भी फायदेमंद साबित होगा।

 

 

यह भी पढ़ें : ये है SIP की A B C D, कराती है बहुत फायदा

 

 

रोेजाना के आधार पर हो रही है मॉनिटरिंग

इस अधिकारी के अनुसार सरकार कमोडिटी के भाव की रोजाना के आधार पर मॉनिटरिंग करती है। एेसे में सरकार को अगर प्राइज में कुछ अंतर लगेगा तो आयात पर बैन लगाने से भी सरकार पीछे नहीं हटेगी। ऑल इंडिया शुगर ट्रेड एसोसिएशन ने भ हालही में सरकार से मांग की है कि वह चीनी के आयात पर ड्यूटी को बढ़ाकर 60 फीसदी करें। इसका मानना है कि पाकिस्‍तान 1.5 मिलियन टन चीनी का निर्यात सब्सिडी की सहायता से कर सकता है। एसोसिएशन को डर है कि पाक वाघा बार्डर के रास्‍ते चीनी का निर्यात कर सकता है।

 

पाकिस्‍तान कितनी दे रहा है सब्सिडी

पाकिस्‍तान ने 1.5 मिलियिन टन चीनी के निर्यात की इजाजत दी है। इस निर्यात पर 10.70 रुपए प्रति किलो की दर से पाकिस्‍तानी रुपए में फ्रैट सब्सिडी की घोषणा की है। इस वक्‍त एक पाकिस्‍तान रुपए की कीमत भारत के 61 पैसे के बराबर है। सब्सिडी की इस घोषणा के बाद 4 दिसबंर को फिर से सब्सिडी को बढ़ाने की घोषणा की है। इस बार कहा गया है कि 9.30 रुपए पाकिस्‍तानी की सब्सिडी की और सहायता देगा।

 

पाकिस्‍तान में जरूरत से ज्‍यादा हुआ चीनी का उत्‍पादन

पाकिस्‍तान में इस बार चीनी के सीजन में 8 मिलियन टन चीनी का उत्‍पादन हुआ है। पाकिस्‍तान में 5 लाख मिलियन टन चीनी की खपत है। इस प्रकार 3 लाख मिलियन टन चीनी पाक के पास अतिरिक्‍त है। इसमें से पाक सरकार ने 1.5 मिलियन टन चीनी का निर्यात सब्सिडी पर करने का ऐलान किया है।

 

 

यह भी पढ़ें : जानिए करोड़पति बनने के फॉर्म्‍यूले, आपके लिए कौन सा है बेस्‍ट

 

आगे पढ़ें : मोदी सरकार किसानों की आमदनी दोगुनी करना चाहती है

 

 

2022 तक किसानों की आमदनी दोगुना करने का लक्ष्‍य

मोदी सरकार का लक्ष्‍य 2022 देश के किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्‍य है। इसके लिए सरकार कई तरह से किसानों की मदद कर रही है। लेकिन अगर पाकिस्‍तान से सस्‍ती चीनी का आयात होता है तो देश का चीनी बाजार में दामों पर असर पड़ सकता है। अगर चीनी मिलों को सही दाम नहीं मिला किसानों का पेमेंट फंस सकता है। इसीलिए सरकार ने कहा है कि वह रोजाना के अाधार पर दामों की मॉनिटरिंग कर रही है, और अगर दामों में हस्‍ताक्षेप की जरूरत पड़ी तो झिचकेगी नहीं।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट