बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Foreign Tradeमोबाइल फोन कंपोनेंट पर बढ़ी इंपोर्ट ड्यूटी, मंहगे हो सकते हैं हैंडसेट

मोबाइल फोन कंपोनेंट पर बढ़ी इंपोर्ट ड्यूटी, मंहगे हो सकते हैं हैंडसेट

स्‍मार्ट मोबाइल फोन उत्‍पादन को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने इसके प्रमुख कंपोनेंट पर इंपोर्ट ड्यूटी को बढ़ा दिया है।

1 of

नई दिल्‍ली. देश में स्‍मार्ट मोबाइल फोन उत्‍पादन को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने इसके प्रमुख कंपोनेंट पर इंपोर्ट ड्यूटी को बढ़ा दिया है। इन कंपोनेंट में कैमरा मॉड्यूल और प्रिंटिड सर्किट बोर्ड असेंबली जैसी चीजें शामिल हैं। इससे पहले सरकार ने बजट में मोबाइल फोन पर कस्‍टम ड्यूटी को 15 से बढ़ाकर 20 फीसदी कर दिया था। इस ड्यूटी बढ़ने के बाद ऐसे स्‍मार्ट मोबाइल फोन महंगे हो सकते हैं।  

 

 

मंत्री ने दी जानकारी

वित्‍त राज्‍य मंत्री शिव प्रताप शुक्‍ला ने लोकसभा में इस संबंध में जानकारी दी। उन्‍होंने बताया कि सरकार ने प्रिंटिड सर्किट बोर्ड एसेंबली, कैमरा माड्यूल और मोबाइल फोन के कनेक्‍टर पर बेसिक कस्‍टम ड्यूटी (BCD) की छूट वापस ले ली। इसके साथ ही सरकार ने अब BCD पर 10 फीसदी ड्यूटी को लागू कर दिया है। अभी तक छूट के चलते इन कंपोनेंट पर कोई टैक्‍स नहीं लगता था।

 

भारत बना मोबाइल फोन उत्‍पाद में दुनिया में नबंर दो

मोबाइल फोन उत्‍पादन के मामले में भारत दुनिया में नबंर दो की पोजीशन में आ गया है। पहले नबंर पर चीन है, जबकि वियतनाम तीसरे नबंर पर पहुंच गया है। इस बात की जानकारी इंडियन सेल्‍युलर एसोसिएशन (ICA) ने दी है। इस लक्ष्‍य को पाने में मेक इन इंडिया के तहत प्रोत्‍साहन देने का नतीजा रहा है। भारत में 2014 में दुनिया में बने कुल मोबाइल फोन में से 3 फीसदी भारत में बने थे, जबकि इनकी संख्‍या 2017 में बढ़कर 11 फीसदी हो गई है।

 

 

आयात भी घटा

जैसे जैसे मोबाइल फोन का उत्‍पादन बढ़ा है वैसे ही मोबाइल फाेन का अायात भी घटा है। सरकार पहले ही चार्जर, बैटरी, हैंडसेट, स्‍पीकर, की पैड आदि पर 15 फीसदी ड्यूटी लगा चुकी है। यह ड्यूटी फेज्‍ड मैन्‍युफैक्‍चरिंग प्रोग्राम (PMP) के तहत लगाई गई थी। इसका उद्देश्‍य देश में मोबाइल फोन का उत्‍पादन बढ़ाना था।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट