Home » Economy » Foreign TradeModi-May hold talks on infusing new energy into ties

ब्रेक्सिट के बाद भारत-ब्रिटेन बायलेटरल ट्रेड होगा और मजबूत, थेरेसा मे से मिले मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और ब्रिटेन की पीएम थेरेसा मे के बीच बुधवार को कई मुद्दों पर बातचीत हुई।

1 of

लंदन. प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और ब्रिटेन की पीएम थेरेसा मे के बीच बुधवार को कई मुद्दों पर बातचीत हुई। इनमें ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन (EU) से बाहर निकलने के बाद द्विपक्षीय समझौतों में नई ऊर्जा डालने का मुद्दा प्रमुख रहा। यह जानकारी विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर दी। EU 28 देशों का संघ है। ब्रिटेन ने 23 जून, 2016 को इससे बाहर जाने का फैसला किया था। 

बता दें कि मोदी इस वक्‍त ब्रिटेन दौरे पर हैं। वह लंदन में कॉमनवेल्थ हेड्स ऑफ गवर्नमेंट मीटिंग में हिस्सा लेने गए हैं। इस दौरान उन्‍होंने ब्रिटिश पीएम से ब्रेकफास्‍ट के दौरान यह चर्चा की। दोनों नेताओं ने भारत और ब्रिटेन के बीच सहयोग बढ़ाने के तरीकों पर भी बात की। 

 

एक सीनियर भारतीय अधिकारी ने बताया कि पीएम मोदी के इस दौरे के दौरान भारत और ब्रिटेन के बीच कई समझौते होंगे। इलीगल इमीग्रैंट्स की वापसी पर MoU को भी रिन्‍यू किया जाएगा। यह MoU 2014 में समाप्‍त हो गया था। इसके अलावा विभिन्‍न सेक्‍टर्स में लगभग एक दर्जन MoU साइन किए जाएंगे। 

 

साइंस म्‍यूजियम भी गए मोदी 

ब्रिटिश पीएम से मुलाकात के बाद पीएम मोदी  प्रिंस चार्ल्‍स के साथ साइंस म्‍यूजियम पहुंचे। यहां उन्‍होंने 'साइंस और इनोवेशन के 5000 साल' प्रदर्शनी में भाग लिया। मोदी ने ब्रिटेन में बसे भारतीय मूल के व अन्‍य वैज्ञानिकों और इनोवेटर्स के साथ बातचीत भी की। क्लियरेंस हाउस ने ट्वीट कर बताया कि यह एग्‍जीबीशन स्‍पेस एक्‍सप्‍लोरेशन और इंजीनियरिंग जैसी चीजों में बढ़ाए गए योगदान के जरिए साइंस और टेक्‍नोलॉजी में भारत की भूमिका को दर्शाती है। 

 

आयुर्वेदिक सेंटर ऑफ एक्‍सीलेंस होगा लॉन्‍च 

ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्‍स की मेजबानी में आयोजित इस इवेंट में नए आयुर्वेदिक सेंटर ऑफ एक्‍सीलेंस को भी लॉन्‍च किया जाएगा। इस सेंटर का उद्देश्‍य योग और आयुर्वेद पर प्रमाण आधारित रिसर्च के लिए अपनी तरह का पहला ग्‍लोबल नेटवर्क क्रिएट करना है। साइंस म्‍यूजियम में प्रिंस चार्ल्‍स और पीएम मोदी ने एकेडमी साउथ एशियन डांस ग्रुप की परफॉरमेंस भी देखी। 

 

15% की दर से बढ़ रहा है भारत-ब्रिटेन के बीच ट्रेड 

बता दें कि पीएम मोदी एक दिन पहले स्‍वीडन में थे। वहां से वह कॉमनवेल्थ हेड्स ऑफ गवर्नमेंट मीटिंग में हिस्‍सा लेने ब्रिटेन पहुंचे है। इसी के तहत भारत और ब्रिटेन के बीच द्विपक्षीय समझौते और बहुपक्षीय विचार-विमर्श भी होगा। मोदी को एयरपोर्ट पर लेने पहुंचे ब्रिटेन के विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि भारत और ब्रिटेन के बीच द्विपक्षीय व्‍यापार हर साल 15 फीसदी की दर से बढ़ रहा है। ऐसे में भारतीय पीएम का यह दौरा बड़े इकोनॉमिक फायदे पहुंचाने में मदद करेगा। भारत-ब्रिटेन के बीच टेक कोलेबोरेशन, ट्रेड, हेल्‍थकेयर अपॉर्च्‍युनिटी आदि जैसे कई मुद्दों पर बात होगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट