बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Foreign Tradeचीन के सरैमिकवेयर पर भारत ने लगाई एंटी-डंपिंग ड्यूटी, घरेलू इंडस्‍ट्री को मिलेगा सपोर्ट

चीन के सरैमिकवेयर पर भारत ने लगाई एंटी-डंपिंग ड्यूटी, घरेलू इंडस्‍ट्री को मिलेगा सपोर्ट

भारत ने चीन से इम्‍पोर्ट होने वाले सरैमिक टेबलवेयर और किचनवेयर पर एंटी-डंपिंग ड्यूटी लगा दी है।

1 of

नई दिल्‍ली. भारत ने चीन से इम्‍पोर्ट होने वाले सरैमिक टेबलवेयर और किचनवेयर पर एंटी-डंपिंग ड्यूटी लगा दी है। केंद्र सरकार की तरफ से यह कदम घरेलू इंडस्‍ट्री के हितों को प्रोटेक्‍ट करने के लिए उठाया गया है। सरकार ने चीन से आने वाले सरैमिक टेबलवेयर और किचनवेयर पर 1.04 डॉलर (करीब 68 रुपया) प्रति किलो एंटी डंपिंग ड्यूटी लगाई है। इससे भारत में इनका इम्‍पोर्ट महंगा हो जाएगा। 

 


ऑल इंडिया पॉटरी मैन्‍युफैक्‍चरर्स एसोसिएशन (AIPMA) और द इंडियन सरैमिक सोसायटी ने डायरेक्‍टर जनरल ऑफ एंटी-डंपिंग एंड एलाइड ड्यूटीज (DGAD) से चीन से आने वाले सेरेमिक टेबलवेयर और किचनवेयर पर ड्यूटी बढ़ाने की मांग की थी। जिससे कि उनके हितों को सुरक्षित रखा जा सके। 

 

जांच के बाद डीजीएडी ने इन आइटम्‍स के इम्‍पोर्ट पर निश्चित एंटी डंपिंग ड्यूटी लगाने की सिफारिश की। इसके आधार पर वित्‍त मंत्रालय के अंतर्गत कार्यरत रेवेन्‍यू डिपार्टमेंट ने यह ड्यूटी लगा दी है। इससे पहले, जून 2017 में एक प्रोविजनल एंटी-डंपिंग ड्यूटी लगाई गई थी। जून 2017 से पांच साल के लिए अब फाइलन ड्यूटी लगा दी गई है। 


क्‍यों लगाई जाती है एंटी-डंपिंग ड्यूटी?

 आमतौर पर एक देश अपने घरेलू कारोबारियों के हितों को संरक्षित करने के लिए यह कदम उठाता है। दरअसल, सस्‍ते इम्‍पोर्ट की वजह से जब घरेलू इंडस्‍ट्री को नुकसान पहुंचता है तो देश एंटी डंपिंग जांच कराते हैं। जवाबी कदम के तौर पर देश डब्‍ल्‍यूटीओर के तय मानकों के तहत ड्यूटी लगाते हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट