Home » Economy » Foreign TradeAadhaar and PAN mandatory for customs broker licence says tax dept

कस्‍टम्‍स ब्रोकर लाइसेंस लेने के लिए आधार और PAN अनिवार्य : टैक्‍स डिपार्टमेंट

केंद्र सरकार ने कस्‍टम्‍स ब्रोकर लाइसेंस लेने के लिए यूनिक आईडेंटिटी नंबर आधार और पैन अनिवार्य कर दिया है।

1 of

नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार ने कस्‍टम्‍स ब्रोकर लाइसेंस लेने के लिए यूनिक आईडेंटिटी नंबर आधार और पैन अनिवार्य कर दिया है। राजस्‍व विभाग की ओर से जारी नोटिफिकेशन के अनुसार, जो लोग कस्‍टम्‍स ब्रोकर लाइसेंस लेना चाहते हैं उन्हें पैन और आधार देना होगा। 'कस्‍टम्‍स ब्रोकर' वह व्‍यक्ति होता है, जिसके पास इम्‍पोर्टर या एक्‍सपोर्टर की तरफ से एक एजेंट के रूप में बिजनेस संबंधी लेनदेन करने का लाइसेंस होता है। यह व्‍यक्ति किसी भी कस्‍टम स्‍टेशन के लिए सामानों की एंट्री और डिपार्टचर के साथ-साथ ऑडिट की भी जिम्‍मेदारी देखता है। 

 

 

हर साल अप्रैल में करना होता है आवेदन

सेंट्रल बोर्ड ऑफ एक्‍साइज एंड कस्‍टम्‍स (सीबीईसी) की ओर से नोटि‍फाई कस्‍टम्‍स ब्रोकर्स लाइसेंसिंग रेग्‍युलेशंस 2018 के अनुसार, ऐसे आवेदक जो कस्‍टम्‍स ब्रोकर का लाइसेंस लेना चाहते हैं, उनके पास पैन कार्ड के साथ आधार भी होना चाहिए। डायरेक्‍टरेट जनरल ऑफ परफार्मेंस मैनेजमेंट हर साल अप्रैल में कस्‍टम्‍स ब्रोकर के लिए आवेदन मंगाता है। इसके लिए परीक्षा होती है और उसके बाद ही यह लाइसेंस जारी किया जाता है। 

 

10 साल के लिए वैलिड होता है लाइसेंस 

रेग्‍युलेशन के तहत जारी लाइसेंस 10 साल के लिए वैलिड होता है। एक कस्‍टम्‍स ब्रोकर क्‍लाइंट की पहचान और जिस पते से बिजनेस हो रहा है उसे वेरिफाई करने के लिए जिम्‍मेदार होता है। रेग्‍युलेशंस के अनुसार, एक कस्‍टम्‍स ब्रोकर केवल उन्‍हीं लोगों को नियुक्‍त करना चाहिए जो कम से कम 12वीं पास होने के साथ आधार कार्डधारक हो। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट