बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Foreign Tradeसि‍र्फ चिंता के चलते टूट गई इस देश की करंसी, मोदी को दी है दो बार चेतावनी

सि‍र्फ चिंता के चलते टूट गई इस देश की करंसी, मोदी को दी है दो बार चेतावनी

प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर में गिरावट दर्ज की गई।

1 of

न्यूयॉर्क। खुद को सुपरपावर कहने वाले और बात-बात पर भारत व चीन सहि‍त अन्‍य देशों को धमकी देने वाले अमेरि‍का की करंसी महज इस चिंता में टूट गई कि‍ आगे क्‍या होगा। चीन और अमेरिका के बीच व्यापार युद्ध से जुड़ी चिंताओं का बाजार पर ऐसा असर पड़ा कि‍ अन्य प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर में गिरावट आ गई।  अमेरि‍का की करेंसी यूरोप की यूरो, ब्रि‍टि‍श पाउंड, जापान की येन और भारतीय रुपए के मुकामले कमजोर पड़ गई। 


समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, शुक्रवार को न्यूयॉर्क ट्रेडिंग में यूरो में बीते सत्र के 1.2236 डॉलर के मुकाबले 1.2285 डॉलर की मजबूती रही। वहीं, ब्रिटिश पाउंड में बीते सत्र के 1.4001 डॉलर के मुकाबले 1.4085 डॉलर की बढ़त रही। भारतीय रुपया भी डॉलर के मुकाबले मजबूती पर बंद हआ था। 


आपको बता दें कि‍ अमेरि‍की राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप हाल फि‍लहाल में दो बार प्रधानमंत्री मोदी को चेतावनी दे चुके हैं। जबकि अमेरिका के  व्यापार प्रतिनिधि (यूएसटीआर) रॉबर्ट लाइथिजर ने साफ किया है कि अगर भारत ने पलटवार कि‍या तो अमेरि‍का के पास उसका जवाब नहीं है।  आगे पढ़ें क्‍या है माजरा 

 

ये असर चीन का 
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन से आयातित उत्पादों पर अतिरिक्त 100 अरब डॉलर का शुल्क लगाने की चेतावनी दी है, जिसके कारण व्यापार जगत में चिंता की लहर है और आर्थिक विकास पर अनिश्चितता के बादल छा गए हैं। इसका असर डॉलर पर पड़ा है और अन्‍य मुद्राओं के मुकाबले उसकी स्‍थि‍ति‍ कमजोर पड़ गई है। चीनी वाणिज्य मंत्रालय के प्रवक्ता ने शुक्रवार को कहा कि अमेरिका अगर अपनी एकतरफा संरक्षणवादी नीतियों को जारी रखता है तो चीन 'किसी भी कीमत' पर इससे मुकाबला करेगा और 'व्यापक प्रतिक्रियात्मक कदम' उठाएगा। डॉलर सूचकांक बीते कारोबार में 0.39 फीसदी की गिरावट के साथ 90.106 पर रहा।  आगे पढ़ें मोदी को क्‍या धमकी दी थी

 

अंजाम भुगतने को कहा था 
अमेरि‍की राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप हाल फि‍लहाल में दो बार प्रधानमंत्री मोदी को चेतावनी दे चुके हैं। कुछ अर्सा पहले ही जब भारत ने मोटर व्‍हीकल्‍स की कस्‍टम ड्यूटी को बढ़ाया था तो ट्रंप ने मोदी को अंजाम भुगतने की चेतावनी दी थी। इसके अलावा भारत ने घरेलू मार्केट में कीमतें नीचे गि‍रने के बचाने के लि‍ए दालों पर इंपोर्ट ड्यूटी को बढ़ाया तो भी अमेरि‍का ने वि‍श्‍व व्‍यापार संगठन में कड़े शब्‍दों में इसका विरोध कि‍या था और कहा था कि अमेरि‍का भी फि‍र ऐसे ही कदम उठा सकता है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट