Home »Economy »Banking» The Net Balance In The PMJDY Was Rs 62,972.42 Crore On March 29

जनधन खातों में पैसे जमा कराने का ट्रेंड बढ़ा, नोटबंदी के बाद से लगातार घट रही थी जमा राशि

जनधन खातों में पैसे जमा कराने का ट्रेंड बढ़ा, नोटबंदी के बाद से लगातार घट रही थी जमा राशि
नई दिल्‍ली. जनधन खातों में पैसे जमा होने का ट्रेंड फिर से शुरू हो गया है। नोटबंदी के दौरान ऐसे खातों से पैसे निकलने का ट्रेंड सामने आया था। 5 अप्रैल 2017 को समाप्‍त हुए सप्‍ताह में जनधन खातों में 1 हजार करोड़ रुपए बढ़कर 63,971.38 करोड़ रुपए हो गया है।
 
प्रधानमंत्री जनधन खातों में 29 मार्च को समाप्‍त सप्‍ताह में नेट बैलेंस 62,972.42 करोड़ रुपए था। यह जानकारी वित्‍त मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों में दी गई है। इन जनधन खातों में 7 दिसम्‍बर 2016 को सबसे ज्‍यादा जमा 74,610 करोड़ रुपए था। इसके बाद इसमें गिरावट शुरू हो गई थी। इसके बाद जनधन खातों में 5 अप्रैल को समाप्‍त हुए सप्‍ताह में जमा बढ़नी शुरू हुई है।
 
2014 में खोले गए थे जनधन खाते
 
प्रधानमंत्री जनधन खाते अगस्‍त 2014 में खोले गए थे। इनको खोलने का मकसद गरीबों को बैंकिंग व्‍यवस्‍था से जोड़ने का था। इन खातों की संख्‍या 28.23 करोड़ है जिनमें से 18.50 करोड़ खाते आधार से जोड़े जा चुके हैं।
 
नोटबंदी के दौरान सरकार ने चेताया था
 
पिछले साल नम्‍वंबर में सरकार ने 500 और 1000 के रुपए नोट को प्रचलन से बाहर कर दिया था। सरकार ने लोगों से बंद हो चुके नोट बैंक में जमा करके नए लेने की सुविधा दी थी। इसी दौरान जनधन खातों में जमा का बढ़ना शुरू हुआ। ब्‍लैक मनी को इन खातों में जमा कराने की खबरें आने के बाद सरकार ने कार्रवाई की बात कही थी। इसके बाद से इन खातों में पैसा कम होना शुरू हो गया था। इसके 5 अप्रैल का खत्‍म हुआ सप्‍ताह पहला ऐसा हफ्ता था जिसमें जनधन खातों में जमा बढ़ा है। नोटबंदी 50 दिन चली थी और 30 दिसम्‍ब्‍र 2016 तक लोगों को पुराने नोट जमा करके नए लेने की सुविधा दी गई थी।
 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY