Home »Economy »Banking» Finace Ministry Asks To Psu Banks To Implement Wage Revision In Time Frame

PSU बैंकों को समय से वेतन संशोधन करने के निर्देश, 8 लाख कर्मियों को होगा फायदा

PSU बैंकों को समय से वेतन संशोधन करने के निर्देश, 8 लाख कर्मियों को होगा फायदा
नई दिल्‍ली. वित्‍त मंत्रालय ने पब्लिक सेक्‍टर के  बैंकों को  नवंबर से नए वेतन  संशोधन को लागू करने के लिए रूप रेखाओं को अंतिम रूप देने के लिए कहा है। स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया के सहयोगी बैंकों के विलय से पहले भारत में 21 पब्लिक सेक्‍टर के बैंक हैं, जिनमें करीब 8 लाख कर्मचारी कार्यरत हैं। इससे पहले हुए संशोधन में कर्मचारियों को 15 फीसदी की वेतन बढ़ोतरी हुई थी। 
 
 
बैंकों के सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्‍टर्स के बीच हुई वार्तालाप के अनुसार मंत्रालय ने वेतन संशोधन को लागू करने के के संबंध में सलाह दी है कि वेतन संशोधन तय समय सीमा में हो जाना चाहिए। मंत्रालय ने इसके लिए एक नवंबर 2017 तक की समय-सीमा रखी है। पब्लिक सेक्‍टर बैंकों में हर पांच साल में वेतन संशोधन होता है। इससे पहले नवंबर 2012 में संशोधन हुआ था। उस वक्‍त पब्लिक सेक्‍टर बैंक इम्‍प्‍लायज यूनियन, बैंक मैनेजमेंट और इंडियन बैंक एसोसिएशन के बीच 15 फीसदी वेतन बढ़ोतरी को लेकर सहमति बनी थी।
 
क्षतिपूर्ति पैकेज को बढ़ाने की मांग 
हाल ही में बैंक बोर्ड ब्‍यूरो के चीफ विनोद राय ने कहा है कि पब्लिक सेक्‍टर बैंकों में क्षतिपूर्ति पैकेज को इंप्रूव करने की जरूरत है। उन्‍होंने कहा कि हो सकता है कि मौजूदा क्षतिपूर्ति पैकेज में बहुत ज्‍यादा कुछ न कर पाएं लेकिन, आगामी वित्‍तीय वर्ष में इस पैकेज में बोनस, ईएसओपी और परफोर्मेंस लिंक इंसेंटिव को भी इसमें शामिल किया जाए।   

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY