Home » Economy » Bankingfrom bank of maharashtra to pnb: top bank officers charged by investigative agencies

जांच एजेंसि‍यां ने कसा शिकंजा, बैंक ऑफ महाराष्ट्र से लेकर PNB तक के सीनियर अधिकारी आए घेरे में

पि‍छले कुछ समय से देश के बड़े बैंकों के शीर्ष अधिकारि‍यों को वि‍भि‍न्‍न जांच एजेंसि‍यों ने घेरा है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। पुणे पुलिस की इकोनॉमि‍क आफेंस विंग (EOW) ने बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र के चेयरमैन रविंद्रा मराठे को गि‍रफ्तार कि‍या है। मराठे को 3000 करोड़ के DSK ग्रुप लोन डिफॉल्ट मामले में गि‍रफ्तार कि‍या गया है। पि‍छले कुछ समय से देश के बड़े बैंकों के शीर्ष अधिकारि‍यों को वि‍भि‍न्‍न जांच एजेंसि‍यों ने घेरा है। इन अधि‍कारि‍यों की वजह से बैंक के करोड़ों ग्राहकों का भरोसा डगमगा गया है। यहां हम उन बैंक के शीर्ष अधि‍कारि‍यों के बारे में बता रहे हैं जि‍नको जांच एजेंसि‍यां तब तक पकड़ चुकी हैं। 

 

रविंद्र मराठे, चेयरमैन, बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र

 

पुणे पुलिस के इकोनॉमिक ऑफेंस विंग ने जांच में पाया है कि बैंक ऑफ महाराष्ट्र के सीईओ रविंद्र मराठे समेत बैंक के कई अधिकारियों ने दिवालिया हो चुके बिल्डर डीएस कुलकर्णी को लोन दिलाने में मदद की। रिपोर्ट्स के अनुसार बैंक अधिकारियों को उनके दिवालिए होने की जानकारी थी।

 

आरके दुबे, सीएमडी, केेनरा बैंक 

 

सीबीआई ने मार्च महीने में केेनरा बैंक के सीएमडी आरके. दुबे के खिलाफ कथित 68 करोड़ लोन डिफॉल्ट के आरोप में आपराधिक षडयंत्र, धोखाधड़ी और फर्जीवाड़े का केस दर्ज किया। दुबे ने यह लोन 2013 में सेंक्शन किया था। इस मामले में बैंक के तत्कालीन कार्यकारी निदेशक अशोक कुमार गुप्ता और वीएस कृष्ण कुमार पर भी केस दर्ज किया गया।

 

योगेश अग्रवाल, चेयरमैन, आईडीबीआई बैंक

 

बीते साल जनवरी में वि‍जय माल्‍या लोन डि‍फॉल्‍ट मामले में सीबीआई ने अग्रवाल के अलावा चार अन्‍य अधि‍कारि‍यों गि‍रफ्तार कि‍या था। इस मामले में डि‍प्‍टी एमडी बीके बत्रा और बैंक की क्रेडिट कमिटी के पूर्व सदस्यों बीके बत्रा, ओवी बुंदेलु और एसकेवी श्रीनिवासन और तत्कालीन जनरल मैनेजर आरएस श्रीधर को भी गि‍रफ्तार कि‍या गया था। 

 

ऊषा अनंतसुब्रमण्यन, पूर्व सीईओ, पीएनबी

 

बीते माह सीबीआई ने अनंतसुब्रमण्‍यन का नाम नि‍रव मोदी मामले में चार्ज शीट में डाला था। इस चार्ज शीट में दो एक्‍जि‍क्‍युटि‍व डायरेक्‍टर्स केवी ब्रह्माजी राव और संजीव शरण के भी नाम हैं।

 

अर्चना भार्गव, सीएमडी, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडि‍या

 

सीबीआई ने आय के ज्ञात साधनों से 3.6 करोड़ रुपए मूल्य की ज्यादा संपत्ति जुटाने के आरोप में भार्गव के खिलाफ मार्च महीने में केस दर्ज किया था।

 

अरुण कौल, सीएमडी, यूको बैंक

 

सीबीआई ने अप्रैल में यूको बैंक के पूर्व चेयरमैन अरुण कौल के खिलाफ इरा इंजीनियरिंग इन्फ्रा इंडिया को दिए गए कर्जों में 621 करोड़ रुपये के लोन फ्रॉड के आरोप में केस दर्ज किया था।

 

चंदा कोचर, सीईओ, आईसीआईसीआई बैंक

 

चंदा कोचर को वीडियोकॉन लोन मामले में इंटरनल जांच पूरी होने तक छुट्टी पर भेज दि‍या गया है।

 

किशोर खरात, मेलविन रेगो और एमएस राघवन, IDBI बैंक

 

600 करोड़ रुपए के एयरसेल लोन डिफॉल्ट केस में सीबीआई ने अप्रैल में आईडीबीआई बैंक के तीनों एग्जिक्युटिव्स के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी। ये उन 15 मौजूदा एवं पूर्व वरिष्ठ अधिकारियों में शामिल हैं, जिनके नाम चार्जशीट में दर्ज हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट