विज्ञापन
Home » Economy » BankingOnline Shopping : is it safe online shopping by credit and debit card

टोकन से कर सकेंगे ऑनलाइन शॉपिंग, क्रेडिट-डेबिट कार्ड की नहीं होगी जरूरत

डाटा सेफ करने के लिए RBI ला रहा है नया सिस्टम

Online Shopping : is it safe online shopping by credit and debit card

New token card for online shopping : 

अब आपको ऑनलाइन खरीददारी करने के लिए डेबिट या क्रेडिट कार्ड की डिटेल देने की जरूरत नहीं होगी। जल्द ही आप के पास ऐसा टोकन होगा, जिसके माध्यम से ऑनलाइन शॉपिंग कर सकेंगे। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ऐसा सिस्टम शुरू करने जा रहा है। ये टोकन बैंकों की ओर से जारी किए जाएंगे,जिन्हें कार्ड के असली नंबर की जगह इस्तेमाल किया जा सकेगा। 


नई दिल्ली. अब आपको ऑनलाइन खरीददारी करने के लिए डेबिट या क्रेडिट कार्ड की डिटेल देने की जरूरत नहीं होगी। जल्द ही आप के पास ऐसा टोकन होगा, जिसके माध्यम से ऑनलाइन शॉपिंग कर सकेंगे। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ऐसा सिस्टम शुरू करने जा रहा है। ये टोकन बैंकों की ओर से जारी किए जाएंगे,जिन्हें कार्ड के असली नंबर की जगह इस्तेमाल किया जा सकेगा। 

 

यह होगा फायदा 
ईटी ऑनलाइन में छपी खबर के मुताबिक, कार्ड नंबर की जगह टोकन की व्यवस्था होने से डिजिटल पेमेंट्स को बहुत बढ़ावा मिलेगा। टोकन में बेहद हाई रिस्क सिक्योरिटी फीचर होते हैं। एक बार टोकन इशू हो गया तो आपके (कार्ड होल्डर के) सिवा कोई दूसरा आपका ऑरिजन कार्ड नंबर नहीं जान सकता। यहां तक कि कार्ड जारी करने वाले बैंक का कर्मचारी भी नहीं। नॉर्मल रिटेल कस्टमर्स अपने बैंक से मुफ्त में टोकन जारी करवा सकेंगे। 

 

इंटरनेशनल साइट्स पर खरीददारी होगी आसान 
नए नियम से इंटरनेशनल साइट्स पर खरीददारी करना आसान होगा जाएगा। कई बार इंटरनेशनल वेबसाइटों से ई-सिगरेट कार्ट्रिज, माउंटेन साइकल पार्ट्स या ड्रोन आदि ऑर्डर करना भी काफी जोखिम भरा होता है क्योंकि उन वेबसाइटों पर भारतीय वेबसाइटों की तरह टू-फैक्टर अथॉन्टिकेशन की अनिवार्यता नहीं होती है। विदेशों की यात्रा पर जाने के अपने जोखिम होते हैं क्योंकि वहां कार्ड-स्कीमिंग सिंडिकेट्स बेहद सक्रिय हैं जो पब्स और ईटरीज जैसी जगहों पर कार्ड डेटा स्कीम कर लेते हैं। 

 

यह होगा सिक्योरिटी फीचर 
टोकन का सबसे प्रमुख सिक्यॉरिटी फीचर इसमें लगातार बदलना है। डेबिट कार्ड के बदले 16 डिजिट का टोकन हर ट्रांजैक्शन के बाद बदल जाएगा। इन्क्रिप्शन और टोकनिजम के जरिए हमें ई-कॉमर्स स्पेस में फर्जीवाड़े की बहुत कम गुंजाइश बच पाने की उम्मीद है। ईवीएम कार्ड और पिन के कारण एटीएम फ्रॉड में कमी आई है, लेकिन ऑनलाइन स्पेस में आगे का रास्ता टोकनिजम ही है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss