बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Bankingनीरव मोदी के फ्रॉड से PNB ने लिया सबक, लेटर ऑफ गारंटी का बदला सिस्टम

नीरव मोदी के फ्रॉड से PNB ने लिया सबक, लेटर ऑफ गारंटी का बदला सिस्टम

नीरव मोदी से 13000 करोड़ का झटका खा चुका पंजाब नेशनल बैंक अब फूंक-फूंक कर कदम रख रहा है।

1 of
नई दिल्ली। नीरव मोदी से 13000 करोड़ का झटका खा चुका पंजाब नेशनल बैंक अब फूंक-फूंक कर कदम रख रहा है। बैंक अब लेटर ऑफ गारंटी भेजने पर एक्सट्रा अलर्ट हो गया है। बैंक ने सभी बैंकों को एडवाइजरी जारी करते हुए कहा है कि उसके द्वारा भेजे गए लेटर ऑफ गारंटी को वह भी अपने लेवल पर ब्रांच के जरिए क्रॉस चेक जरुर करेंं।

 
बैंक ने क्रॉस चेक का सिस्टम किया आसान
 
पंजाब नेशनल बैंक द्वारा जारी की गई एडवाइजरी के अनुसार बैंक भारत में जब भी किसी बिजनेसमैन को लेटर ऑफ गारंटी दे रहा है, तो उसकी सूचना वह फिजिकल रुप और ऑनलाइन सिस्टम दोनों के जरिए संबंधित बैंक को दे रहा है। यहीं नहीं इसके अलावा बैंक ने ब्रांच लेवल पर भी क्रॉस चेक की सुविधा शुरू कर दी है। जिससे बिजनेसमैन द्वारा दिखाई जा रहे लेटर ऑफ गारंटी को वैरिफाई आसानी से किया जा सके।
 
अभी जनरल मैनेजर लेवल पर थी वैरिफिकेशन की सुविधा
 
पंजाब नेशनल बैंक के एक पूर्व अधिकारी के अनुसार पहले बैंक द्वारा भेजे गए लेटर ऑफ गारंटी  को वैरिफिकेशन का प्रॉसेस जनरल मैनेजर लेवल के अधिकारी के जरिए किया जाता था। अब यह सुविदा ब्रांच लेवल पर शुरू हो गई है। इससे किसी भी  बैंक के लिए वैरिफिकेशन प्रॉसेस आसान हो जाएगा। साथ ही उसका समय भी बचेगा। 
 
क्‍या है मामला?  
नीरव मोदी और मेहुल चौकसी ने पीएनबी की मुंबई स्थित ब्रैडी हाउस ब्रान्च के कुछ कर्मचारियों के साथ मिलकर इस घोटाले को अंजाम दिया था। फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (LoU) के जरिए पैसों की निकासी की गई। इस मामले की जांच ईडी और सीबीआई और जैसी एजेंसियां कर रही हैं। इस मामले में PNB के पूर्व डेप्युटी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी के अलावा नीरव मोदी और चौकसी की कंपनियों के कई अधिकारियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। 
 
नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के खि‍लाफ वॉरंट जारी 
पंजाब नैशनल बैंक में 13 हजार करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी को अंजाम देकर अरबपति जूलर नीरव मोदी और मेहुल चौकसी देश छोड़कर भाग चुके हैं। पिछले महीने स्पेशल प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट (PMLA) कोर्ट ने भी इनके खिलाफ गैरजमानती वॉरंट जारी किया था। वहीं, दोनों के खिलाफ इंटरपोल से रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की मांग करने का रास्ता खुल गया है। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट