Home » Economy » BankingPm modi scheme gives double benefits 20 lakh people add on this

मोदी की इस योजना से 21 दिन में जुड़े 20 लाख लोग, मिल रहा डबल फायदा

मोदी सरकार की योजना से महिलाओं ने उठाया सबसे ज्यादा फायदा

Pm modi scheme gives double benefits 20 lakh people add on this

नई दिल्ली। वित्त मंत्रालय के मुताबिक प्रधानमंत्री जनधन योजना से 21 दिनों में 20 लाख नए खाताधारक जुड़े हैं। मोदी सरकार ने जनधन योजना को कुछ बदलाव के साथ आगे जारी रखने का फैसला किया है। इस बारे में 15 अगस्त को केंद्रीय कैबिनेट ने निर्णय लिया था, उस दिन से 5 सितंबर तक कुल 32.61 करोड़ खातों में 1266.43 करोड़ रुपए जमा कराए गए हैं। जिसकी वजह से जनधन खातों में जमा कुल रकम 82, 490 करोड़ हो गई है।   

 

योजना में क्या हुए बदलाव

कैबिनेट ने नए जनधन खातों पर ओवर ड्राफ्ट यानी OD की सीमा को 5 हजार की बजाय 10 हजार रुपए कर दिया है।  हालांकि मौजूदा जनधन खातों पर OD की सीमा 5 हजार रुपए ही रहेगी, लेकिन नए खातों के लिए यह सीमा 10 हजार रुपए करने का निर्णय लिया गया है। 2 हजार रुपए तक की OD  के लिए कोई शर्त नहीं होगा। यही नहीं OD लेने वालों की उम्र सीमा पहले 18 से 60 वर्ष थी। इसे बढ़ाकर अब 18 से 65 वर्ष कर दिया गया है।

 

एक की जगह दो लाख मिलेगा इंश्योरेंस-

जनधन खातों के साथ मिलने वाले रुपे कार्ड पर  इंश्योरेंस अब 1 की जगह 2 लाख हो गया है। यह इंश्योरेंस दुर्घटना की स्थिति में दिया जाता था। हालांकि सरकार ने साफ किया है कि  28 अगस्त 2018 के बाद खुलने वाले खाताें के लिए जारी कार्ड पर ही 1 की जगह 2 लाख का एक्सीडेंटल क्लेम मिलेगा। पहले के खुले खातों पर 1 लाख का ही क्लेम मिलेगा।

 

बढ़ी योजना की अ‌वधि

वित्त मंत्री अरुण जेटली के मुताबिक, शुरू में इस योजना को 4 साल के लिए  चलाया गया था। यह इस साल 14 अगस्त को समाप्त हो गई थी। अब इसकी मियाद बढ़ा दी गई है। यह योजना अब अगले फैसले तक जारी रहेगी। योजना को कब समाप्त करना है, इस बारे में निर्णय बाद में लिया जाएगा।

 

धाताधारकों में महिलाओं की संख्या सबसे ज्यादा-

वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक करीब 7.18 लाख लोगों ने ऐसे है, जिन्होंने 28 अगस्त के बाद प्रधानमंत्री जनधन योजना में खाता खुलवाया है। योजना वर्ष 2014 के अगस्त में लांच हुई थी। जिसके पहले चरण में देश के हर एक व्यक्ति को बैंक खाते से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया था। जबकि योजना के सरे चरण की शुरुआत 15 अगस्त 2018 को हुई। इसमें असंगठित क्षेत्र के लोगों को बिजनेस कॉरेस्पोंडेंट के जरिए माइक्रो इंश्योरेंस स्कीम से जोड़ना था। इस योजना से जुड़ने वालों में महिलाओं की संख्या सबसे ज्यादा है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट