Home » Economy » Bankingwhere find more return

बैंक ऑफ इंडिया ने एफडी के लिए बदली ब्याज दर, जानें नए रेट

एफडी पर आम लोगों की तुलना में वरिष्ठ नागरिकों को ज्यादा इंटरेस्ट मिलता है।

where find more return

नई दिल्ली. सभी अपने बेहतर भविष्य के लिए सेविंग करते हैं। लेकिन सही समय और सही स्कीम में सेविंग करने से ज्यादा रिटर्न हासिल कर सकते हैं। अकसर देखा जाता है कि लोग बैंकों के सेविंग अकाउंट में पैसे जमा करते हैं, जहां कम इंटरेस्ट मिलता है, जबकि फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) बैकों की ऐसी स्कीम होती है, जिसमें सेविंग अकाउंट से कहीं ज्यादा इंटरेस्ट मिलता है। इसमें एक निश्चित टाइम पीरियड के लिए पैसा जमा किया जाता है और उसी अनुपात में बैंक इंटरेस्ट देते हैं। एफडी के निर्धारित टाइम पीरिय यानी मैच्योर होने से पहले पैसे निकालने पर बैंक पेनल्टी के तौर पर कुछ पैसे काट लेते हैं। ऐसे में एफडी के मैच्योर होने का इंतजार करना चाहिए।

 

 

एफडी लेते समय इन बातों का रखें ध्यान-

बैंकों के एफडी पर इंटरेस्ट रेट एक-दूसरे से अलग होते हैं। साथ ही बैंक समय-समय पर इसमें बदलाव होते रहते हैं। इसलिए एफडी कराते समय बैंकों के टर्म एडं कंडीशन को सावधानी से पढ़ना चाहिए। साथ ही इस बारे में किसी से सलाह लेकर ही एफडी करानी चाहिए। वरिष्ठ नागरिकों को ध्यान रखना चाहिए कि एफडी पर उन्हें आम लोगों की तुलना में ज्यादा इंटरेस्ट रेट मिलता है।

 

बैंक ऑफ इंडिया ने हाल ही में एफडी इंटरेस्ट रेट में संशोधन किया है। इसमें तीन साल के लिए एक करोड़ से कम रकम का एफडी कराने पर 6.5% की दर से इंटरेस्ट रेट मिलेगा, जबकि इतने साल और इतने ही अमाउंट पर एसबीआई 6.8 फीसद, एचडीएफसी 7.10 फीसद और आईसीआईसीआई 7.25 फीसदी इंटरेस्ट रेट ऑफर कर रही है।

 

बैंक ऑफ इंडिया ने एफडी के लिए 

 

टाइम पीरियड

‌‌BIO का संशोधि इंटरेस्ट रेट

(एक लाख से कम रुपए के लिए)

7 दिन से 14 दिन  

5.25*

15 दिन से 30 दिन

5.25

31 दिन से 45 दिन

5.25

46 दिन से 90 दिन

5.75

91 दिन से 120 दिन

6

121 दिन से 179 दिन

6

180 दिन से 269 दिन

6.25

270 दिन से एक से कम

6.25

एक साल से ज्यादा दो साल से कम

6.25

दो साल से ज्यादा तीन साल से कम

6.7

तीन साल से ज्यादा पांच साल से कम

6.5

पांच से ज्यादा और आठ साल से कम

6.5

आठ साल से 10 साल

6.35

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट