Home » Economy » BankingSBI steps in to rescue cash strapped NBFCs, to buy good assets worth Rs 45,000cr

SBI ने NBFCs की मदद के लिए बढ़ाया हाथ, खरीदेगा 45 हजार करोड़ की एसेट

SBI को मिला लोन पोर्टफोलियो बढ़ाने का अच्छा मौका

SBI steps in to rescue cash strapped NBFCs, to buy good assets worth Rs 45,000cr

 

 

नई दिल्ली. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने मंगलवार को कहा कि वह लिक्विडिटी की कमी से जूझ रहीं नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनीज (NBFCs) से 45 हजार करोड़ रुपए की अच्छी क्वालिटी की एसेट्स खरीदेगी। गौरतलब है कि एनबीएफसी सेक्टर फाइनेंशियल क्राइसिस से जूझ रहा है और हाल में आईएलएंडएफएस (IL&FS) और उसकी सब्सिडियरी कंपनियां कई कर्ज रिपेमेंट का डिफॉल्ट किया था।

 

 

एसबीआई के लिए लोन पोर्टफोलियो बढ़ाने का अच्छा मौका

एसबीआई ने पहले जहां 15 हजार करोड़ रुपए की एसेट खरीदने की योजना बनाई थी, हालांकि अब उसने 30,000 करोड़ रुपए की अतिरिक्त एसेट खरीदने का फैसला किया है। एसबीआई के मैनेजिंग डायरेक्टर पी के गुप्ता ने कहा, ‘यह बैंक के लिए अपना लोन पोर्टफोलियो बढ़ाने का अच्छा मौका है, क्योंकि एनबीएफसी एसेट्स काफी आकर्षक कीमतों पर उपलब्ध हैं।’ उन्होंने कहा कि इससे एसबीआई और एनबीएफसी सेक्टर दोनों को फायदा होगा, क्योंकि उन्हें लिक्विडिटी की जरूरत है जबकि बैंकों को इससे अच्छा लोन पोर्टफोलियो मिलेगा।

 

 

बैंक खरीदेगा 30 हजार करोड़ का अतिरिक्त पोर्टफोलियो

एसबीआई ने एक बयान में कहा, ‘बैंक ने शुरुआत में मौजूदा साल के दौरान पोर्टफोलियो परचेज के माध्यम से 15 हजार करोड़ रुपए की ग्रोथ की योजना बनाई थी, जिसे अब बढ़ाया जा रहा है। बैंक के इंटरनल एसेसमेंट के मुताबिक, यह उसके लिए 20 हजार करोड़ रुपए से 30 हजार करोड़ रुपए तक अतिरिक्त पोर्टफोलियो खरीदने का मौका हो सकता है।’

देश के सबसे बड़े लेंडर ने कहा कि उसने एनबीएफसी से अच्छी गुणवत्ता के एसेट्स पोर्टफोलियो खरीदने की दिशा में कदम बढ़ा दिए हैं।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट