Home » Economy » Bankingreported fraud cases are processed and action is taken

5 साल में सामने आए 1 लाख करोड़ रुपए के बैंक फ्रॉड: RBI की रिपोर्ट

पिछले पांच सालों में भारतीय बैंकों में 1 लाख करोड़ रुपए की फ्रॉड की घटनाएं सामने आई हैं।

1 of
नई दिल्‍ली. पिछले पांच साल में भारतीय बैंकों में 1 लाख करोड़ रुपए के फ्रॉड के मामले सामने आए हैं। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार इस दौरान करीब 23 हजार बैंक फ्रॉड के मामले सामने आए हैं। दूसरी तरफ बैंकों का NPA भी तेजी से बढ़ रहा है। 31 दिसबंर 2017 तक सभी बैंकों का NPA बढ़कर 8,40,958 करोड़ रुपए हो चुका था। 

 
बढ़ी हैं फ्रॉड की घटनाएं
आरबीआई ने एक RTI के उत्‍तर में बताया है कि वित्‍त वर्ष 2017-18 में बैंक फ्रॉड की 5152 घटनाएं रिपोर्ट हुई हैं, जबकि वित्‍त वर्ष 2016-17 में ऐसी 5000 घटनाएं रिपोर्ट हुई थीं। वित्‍त वर्ष 2017-18 के हुई घटनाओं में कुल मिलाकर 28,459 करोड़ रुपए के फ्रॉड हुए हैं, जबकि वित्‍त वर्ष 2016-17 में इन घटनाओं में 23933 करोड़ रुपए के फ्रॉड हुए थे। 
 
5 साल में 1 लाख करोड़ रुपए से ज्‍यादा के फ्रॉड 
RBI के अनुसार 2013 से लेकर 1 मार्च 2018 तक कुल मिलाकर 23866 फ्रॉड के मामले सामने आए। इन मामलों में 1,00,718 करोड़ रुपए का फ्रॉड सामने आया। 
वर्ष 2015-16 के दौरान 4693 मामलों में 18,698 करोड़ रुपए और 2014-15 के दौरान 4,639 मामलों में 19,455 करोड़ रुपए का फ्रॉड हुआ है। 
वहीं 2013-14 के दौरान 4,306 मामलों में 10,170 करोड़ रुपए का फ्रॉड हुआ था। 
 
हो रही है कार्रवाई
आरबीआई ने बताया है कि इन मामलों की जांच की जा रही है और कार्रवाई के लिए आगे बढ़ाया जा रहा है। कई बड़े मामलों की जांच CBI और ED कर रही है। इनमें से 13 हजार करोड़ रुपए का PNB फ्रॉड शामिल है। इस मामले में हीरा कारोबारी नीरव मोदी और उनके मामा मेहल चौकसे ने बैंक से साथ यह फ्रॉड किया है। वहीं सीबीआई ने एयरसेल घोटाले में कई बैंकों के वरिष्‍ठ अध्‍ािकारियों को खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की है। इस मामले में IDBI बैंक के साथ 600 करोड़ रुपए का लोन गलत तरीके से लिया गया था। 
 
बैंकों का बढ़ रहा है NPA 
RBI के अनुसार बैंकों का लगातार एनपीए बढ़ रहा है। दिसबंर 2017 तक बैंकों का कुल एनपीए 8,40,958 करोड़ रुपए का था। इसमें सबसे ज्‍यादा एनपीए भारतीय स्‍टेट बैंक के हैं जो 2,01,560 करोड़ रुपए के हैं। अन्‍य बैंकों में PNB का Rs 55,200 करोड़ रुपए, IDBI Bank का 44,542 करोड़ रुपए का एनपीए है। इसके अलावा बैंक ऑफ इंडिया का NPAs 43,474 करोड़ रुपए, बैंक ऑफ बड़ौदा का 41,649 करोड़ रुपए, यूनियन बैंक का 38,047 करोड़ रुपए, कैनरा बैंक का 37,794 करोड़ रुपए, ICICI Bank का 33,849 करोड़ रुपए का है। 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट