विज्ञापन
Home » Economy » BankingMay need more currency as GDP size increasing: RBI official

GDP का साइज बढ़ने के साथ पड़ सकती है ज्यादा करंसी की जरूरतः RBI

देश के जीडीपी (GDP) का आकार बढ़ने के साथ इकोनॉमी को ज्यादा करंसी की जरूरत पड़ सकती है।

May need more currency as GDP size increasing: RBI official

देश के जीडीपी (GDP) का आकार बढ़ने के साथ इकोनॉमी को ज्यादा करंसी की जरूरत पड़ सकती है। रिजर्व बैंक (RBI) के एक अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि नोटबंदी में 500 और 1000 रुपए के हाई वैल्यू नोट जंक होने से सिस्टम में करंसी की कमी हो गई थी। अब इकोनॉमी का साइज बढ़ने के साथ सिस्टम में ज्यादा करंसी डालने की जरूरत पड़ सकती है।

कोलकाता. देश के जीडीपी (GDP) का आकार बढ़ने के साथ इकोनॉमी को ज्यादा करंसी की जरूरत पड़ सकती है। रिजर्व बैंक (RBI) के एक अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि नोटबंदी में 500 और 1000 रुपए के हाई वैल्यू नोट जंक होने से सिस्टम में करंसी की कमी हो गई थी। अब इकोनॉमी का साइज बढ़ने के साथ सिस्टम में ज्यादा करंसी डालने की जरूरत पड़ सकती है।

 

कम हुई नकली नोटों की संख्या

नवंबर, 2016 में नोटबंदी के ऐलान के बाद सरकार ने 500 रुपए के नए नोट छापे थे, लेकिन 1,000 रुपए के नोट बंद कर दिए थे। हालांकि कुछ समय बाद आरबीआई ने 2,000 रुपए के नए नोट जारी कर दिए थे। केंद्रीय बैंक के अधिकारी ने कहा कि नकली नोटों की संख्या में कमी दर्ज की गई है और जो भी सर्किलेशन में हैं उनमें ‘नकली की संख्या मामूली है।’


नोटों में ज्यादा सिक्युरिटी फीचर्स पेश करेगा आरबीआई 

उन्होंने कहा, ‘बैंक करंसी में ज्यादा सिक्युरिटी फीचर्स पेश करेगा, जिनके लिए प्री-क्वालिफिकेशन बिड नोटिस जारी किए गए हैं।’ गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) के संबंध में एक अन्य अधिकारी ने कहा कि आरबीआई डिजिटल ऑम्बुड्समैन के अलावा एनबीएफसी द्वारा लिए जा रहे डिपॉजिट्स के लिए एक ऑम्बुड्समैन भी नियुक्त करेगा। उन्होंने कहा कि आरबीआई फाइनेंशियल इनक्लूजन के लिए राष्ट्रीय स्तर पर एक स्ट्रैटजी बना रहा है।


 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss