Home » Economy » BankingRBI has Initiated Special Audit of Trade Financing Activities

PNB फ्रॉड: सरकारी बैंकों का स्‍पेशल ऑडिट कराएगा RBI, सभी बैंकों से मांगी LoU की डिटेल

PNB फ्रॉड के बाद RBI ने तय किया है वह सरकारी बैंकों विशेष ऑडिट कराएगा।

1 of
नई दिल्‍ली. PNB फ्रॉड के बाद RBI ने तय किया है वह सरकारी बैंकों का विशेष ऑडिट कराएगा। इसके तहत वह ट्रेड फाइनेंस में जारी की गई लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (LoUs) पर विशेष ध्‍यान देगा। आरबीआई ने सभी सरकारी बैकों से इस संबंध में जानकारी उपलब्‍ध कराने को कहा है।

 

 

सभी बैंकों से LoU डिटेल मांगे

आरबीआई ने सभी सरकारी बैंकों से LoU के डिटेल मांगे हैं। इसमें जारी LoU और आउटस्‍टैंडिंग अमाउंट की जानकारी देने को कहा है। आरबीआई ने साथ ही कहा है कि वह जब क्रेडिट गांरटी उपलब्‍ध कराएं तो अपने पास जरूरी कैश जरूर रखें।

 

ज्‍यादातर फ्रॉड ट्रेड फाइनेंस से रिलेटिड

हाल में हुए ज्‍यादातर बैंकिंग फ्रॉड ट्रेड फाइनेंस से जुड़े हुए हैं। पीएनबी में हुआ फ्रॉड भी ऐसा ही है। इसके अलावा ज्‍यादातर विलफुल डिफाल्‍टर भी ट्रेड फाइनेंस से जुड़े हुए हैं। ऐसा ही हाल में हुए फ्रॉड में पीएनबी के साथ भी हुआ है। पीएनबी में LoU के माध्‍यम से 12646 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ है। इस फ्रॉड में फर्जी तरीके से LoU जारी किए गए थे। इसी बात को ध्‍यान में रखते हुए आरबीआई ने नए सिरे से जांच शुरू की है।

 

बाद में एक और ज्‍वैलर के लोन का हुआ खुलासा

पीएनबी फ्रॉड के तुरंत बाद ओरियंटल बैंक से जुड़ा हुआ एक फ्राॅड सामने आया है। इस बैंक से ज्‍वैलर द्वारका दास सेठ ने गलते तरीके से 389.85 करोड़ रुपए का लोन लिया था। इस मामले में सीबीआई ने केस दर्ज कर लिया है। यह मामला 2007-12 के बीच का है।

  

बैंक ऑफ बड़ौदा में हुअा है फ्रॉड

इसी तरह दिल्‍ली के कारोबारी ने भी बैंका ऑफ बड़ौदा से 2015 में फ्रॉड किया था। यह फ्रॉड 6 हजार करोड़ रुपए का है। इस मामले की जांच में सामने आया है कि ट्रेड लोन देने में कई तरह से मानकों का पालन नहीं किया गया है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट