बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Bankingनीरव मोदी की कंपनी को PNB की हॉन्गकॉन्ग, दुबई ब्रांचों से भी मिली थी लोन फैसिलिटीः रिपोर्ट

नीरव मोदी की कंपनी को PNB की हॉन्गकॉन्ग, दुबई ब्रांचों से भी मिली थी लोन फैसिलिटीः रिपोर्ट

नीरव मोदी ग्रुप का एक्सपोजर PNB की मुंबई स्थित ब्रैंडी हाउस ब्रांच तक सीमित नहीं था।

NiMo firms availed loans from PNB's Hong Kong, Dubai branches too: Report

 

नई दिल्ली. नीरव मोदी ग्रुप का एक्सपोजर पंजाब नेशनल बैंक (PNB) की मुंबई स्थित ब्रैंडी हाउस ब्रांच तक सीमित नहीं था, क्योंकि कंपनी ने हॉन्गकॉन्ग और दुबई की ब्रांचों से भी लोन फैसिलिटी मिली थी। बैंक द्वारा जांच एजेंसियों को सब्मिट की गई इंटरनल रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है।

रिपोर्ट के मुताबिक, नीरव मोदी ग्रुप की कंपनियों फायरस्टार डायमंड लिमिटेड हॉन्गकॉन्ग और फायरस्टार डायमंड एफजेडई दुबई ने पीएनबी की हॉन्गकॉन्ग और दुबई स्थित ब्रांचों से कुछ क्रेडिट फैसिलिटी हासिल हुई थी।

 

 

फ्रॉड सामने आने के बाद वापस ली थी सुविधा

जांच और 14,000 करोड़ रुपए के फ्रॉड के साथ संबंध सामने आने के तुरंत बाद दोनों कंपनियों के लिए स्वीकृत क्रेडिट फैसिलिटी को वापस ले लिया गया था। रिपोर्ट में कहा गया, ‘जांच के नतीजे सामने आने के बाद नीरव मोदी ग्रुप के अन्य खातों के साथ कोई फ्रॉड ट्रांजैक्शन का मामला नहीं हुआ। इसलिए इन दनों अकाउंट्स को फ्रॉड के तौर पर दर्ज नहीं किया गया।’

 

 

नीरव मोदी की अमेरिकी कंपनी बैंकरप्सी के लिए कर चुकी है फाइल

एक अन्य ग्रुप कंपनी अमेरिका बेस्ड डायमंड इंक ने बैंक द्वारा हजारों करोड़ रुपए के फ्रॉड का खुलासा होने के बाद फरवरी के आखिरी हफ्ते में न्यूयॉर्क साउदर्न बैंकरप्सी कोर्ट में चैप्टर 11 के अंतर्गत बैंकरप्सी के लिए आवेदन किया था।

फ्रॉड के कुछ पैसे को अमेरिका बेस्ड कंपनी को भेजे जाने की आशंका के मद्देनजर पीएनबी भी बैंकरप्सी की प्रोसीडिंग्स से जुड़ गई थी।

 

 

ब्रैडी हाउस ब्रांच के कुछ कर्मचारियों पर लगाए आरोप

162 पेज की रिपोर्ट में आरोप लगाया गया कि ब्रैडी हाउस ब्रांच के कर्मचारियों के एक समूह ने हीरा कारोबारी नीरव मोदी और उनके मामा मेहुल चौकसी को अरबों डॉलर का फॉरेन क्रेडिट लेने में मदद करने के लिए फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स जारी किए थे। इसके चलते ही देश का सबसे बड़ा बैंक फ्रॉड सामने आया। रिपोर्ट में जांच एजेंसियों को प्रमाण के तौर पर इंटरनल ई-मेल भी उपलब्ध कराए गए।

 

 

पीएनबी को 13,416 करोड़ रुपए का घाटा

बैंक ने जनवरी-मार्च, 2018 तिमाही के दौरान 13,416.91 करोड़ रुपए का घाटा दर्ज किया था, जबकि एक साल पहले यानी 2016-17 की आखिरी तिमाही के दौरान पीएनबी को 261.90 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ था।

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट