Home » Economy » BankingNPA soar above 34 per cent in Q3, pain to linger on: Report

दिसंबर तिमाही में बैंकों का एनपीए 34.5% बढ़ा, PSU बैंकों में दबाव ज्यादा

दिसंबर तिमाही में बैंकों का एनपीए 34.5 फीसदी बढ़ गया है

NPA soar above 34 per cent in Q3, pain to linger on: Report

नई दिल्ली। बैंकिंग सेक्टर के लिए बैड लोन की मुसीबत कम नहीं हो रही है। सिर्फ दिसंबर तिमाही में बैंकों का एनपीए 34.5 फीसदी बढ़ गया है। एक ओर बैंक बैड लोन के मामले में आगे परेशानी दूर होने की बात कह रहे हैं, वहींरेटिंग एजेंसी इकरा की रिपोर्ट में कहा गया है कि एसेट क्वालिटी को लेकर बैंकों की समस्या अभी होती नहीं दिख रही है। 

 

 

रिपोर्ट में कुल 30 बड़े बैंकों के तिमाही नतीजों को आधार बनाया गया है। इसमें 17 प्राइवेट बैंक और 13 सरकारी बैंक के नतीजे शामिल हैं। इनका कंबाइंड ग्रॉस एनपीए एक साल पहले की तिमाही की तुलना में 8.34 फीसदी से बढ़कर 9.45 फीसदी तक पहुंच गया है। वहीं, इस दौरान प्राइवेट बैंक का एनपीए रेश्‍यो 4.1 फीसदी मेनटेन है तो वहीं सरकारी बैंकों का एनपीए रेश्‍यो 12.4 फीसदी रहा है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट