विज्ञापन
Home » Economy » BankingGovt to infuse Rs 28,615 cr in 7 PSBs soon

पब्लिक सेक्टर के 7 बैंकों में 28615 करोड़ रुपए लगाएगी सरकार, 8% तक चढ़े बैंक शेयर

Bank Recapitalisation: रिकैपिटलाइजेशन की खबर से बैंक शेयरों में 8 फीसदी तक की बढ़त दर्ज की गई।

Govt to infuse Rs 28,615 cr in 7 PSBs soon
Bank Recapitalisation: सरकार इस महीने के अंत तक रिकैपिटलाइजेशन बॉन्ड्स के माध्यम से 7 पब्लिक सेक्टर के बैंकों (PSBs) में 28,615 करोड़ रुपए का कैपिटल इनफ्यूजन कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक, इस पूंजी से बैंकों को अपनी रेग्युलेटरी कैपिटल जरूरतों को पूरा करने में मदद मिलेगी। इस खबर के बाद संबंधित बैंकों के शेयरों में 8 फीसदी तक की बढ़त दर्ज की गई।

 

नई दिल्ली. Bank Recapitalisation: सरकार इस महीने के अंत तक रिकैपिटलाइजेशन बॉन्ड्स के माध्यम से 7 पब्लिक सेक्टर के बैंकों (PSBs) में 28,615 करोड़ रुपए का कैपिटल इनफ्यूजन कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक, इस पूंजी से बैंकों को अपनी रेग्युलेटरी कैपिटल जरूरतों को पूरा करने में मदद मिलेगी। इस खबर के बाद संबंधित बैंकों के शेयरों में 8 फीसदी तक की बढ़त दर्ज की गई।

 

8 फीसदी तक चढ़े बैंक शेयर

बैंकिंग स्टॉक्स को इस खबर का खासा फायदा मिला। बैंक ऑफ इंडिया (Bank of India) का शेयर 1 फीसदी, यूको बैंक (Uco Bank) 3.50 फीसदी, यूनाइटेड बैंक (United Bank of India) 4.43 फीसदी, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया 6.59 फीसदी, बैंक ऑफ महाराष्ट्र (Bank of Maharashtra) 7.80 फीसदी, कॉरपोरेशन बैंक 2.66 फीसदी, देना बैंक 2.70 फीसदी मजबूत होकर बंद हुआ।

 

बैंकों को मिलेगी इतनी रकम

सूत्रों ने कहा कि इन सात सरकारी बैंकों में बैंक ऑफ इंडिया को सबसे ज्यादा 10,086 करोड़ रुपए मिलने का अनुमान है। इसके बाद ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स को 5,500 करोड़ रुपए मिलेंगे। अन्य बैंकों की बात करें तो बैंक ऑफ महाराष्ट्र में 4,498 करोड़ रुपए, यूको बैंक को 3,056 करोड़ रुपए और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया 2,159 करोड़ रुपए मिलने का अनुमान है।

इससे पहले सरकार ने 2018-19 में सरकारी बैंकों में 65,000 करोड़ रुपए के कैपिटल इनफ्यूजन का ऐलान किया था, जिसमें से 23,000 करोड़ रुपए पहले ही दिए जा चुके हैं। वहीं 42,000 करोड़ रुपए का कैपिटल इनफ्यूजन बाकी है।

 

जेटली ने किया था यह ऐलान

इस महीने की शुरुआत में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा था कि सरकार, पीएसबी में अतिरिक्त 41,000 करोड़ रुपए लगाएगी, जो पहले की घोषणा से ज्यादा है। 20 दिसंबर को सरकार ने अतिरिक्त 41,000 करोड़ रुपए के कैपिटल इनफ्यूजन के लिए संसद से मंजूरी मांगी थी।

 
बैंकों की बढ़ेगी लेंडिंग क्षमता

वित्त मंत्री ने कहा कि रिकैपिटलाइजेशन से सरकारी बैंकों की लेंडिंग क्षमता बढ़ जाएगी और उन्हें रिजर्व बैंक (RBI) के प्रॉम्प्ट करेक्टिव एक्शन (PCA) फ्रेमवर्क से बाहर आने में मदद मिलेगी। 21 सरकारी बैंकों में से 11 आरबीआई के पीसीए फ्रेमवर्क के दायरे में हैं, जिसने कमजोर बैंकों पर लेडिंग संबंधी प्रतिबंध लगा दिए थे। इन बैंकों में इलाहाबाद बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, कॉरपोरेशन बैंक, आईडीबीआई बैंक, यूको बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन ओवरसीज बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, देना बैंक और बैंक ऑफ महाराष्ट्र शामिल हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन